• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Begusarai
  • Doubts On The Age Of Six Players Who Came For Enrollment In Eklavya; Investigation Revealed The Fake Signature Of DEO On TC

नामांकन:एकलव्य में नामांकन के लिए पहुंचे छह खिलाड़ियों की उम्र पर संदेह; जांच में पता चला टीसी पर है डीईओ के फर्जी हस्ताक्षर

बेगूसराय17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय। - Dainik Bhaskar
जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय।

एकलव्य आवासीय प्रशिक्षण केन्द्र में नामांकन कराने के लिए पहुंचे छह खिलाड़ियों के उम्र को लेकर खेल पदाधिकारी को शक हुआ तो जांच में पाया गया कि इन छात्रों ने फर्जी प्रमाणपत्र को आधार पर नामांकन ले लिया था। दरअसल, इन छात्रों ने स्थानांतरण प्रमाणपत्र पर डीईओ का फर्जी हस्ताक्षर कर बक्सर पहुंच गए थे। इन खिलाड़ियों का नामांकन भी हो गया, लेकिन जब जांच हुई तो छह प्रमाणपत्र पर डीईओ का फर्जी हस्ताक्षर और मोहर थी।

ज्ञात हो कि जिले में फर्जी साइन और फर्जी सर्टिफिकेट के आधार पर खेल में शामिल होने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी वर्ष 2018 में फर्जी स्कूल, फर्जी लेटर पैड, फर्जी मोहर और फर्जी हस्ताक्षर के आधार पर कबड्डी की पूरी टीम बना ली गई थी। इसी तरह क्रिकेट में भी टीम बिना खेल विभाग के जानकारी के ही राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में शामिल होने रवाना हो गई थी। दैनिक भास्कर द्वारा मामले का खुलासा करने के बाद टीम को वापस आना पड़ा था।

8 छात्रों ने टीसी ली थी
बताते चलें कि मुख्यमंत्री खेल विकास योजना अंतर्गत वॉलीबॉल बालक के एकलव्य आवासीय प्रशिक्षण केंद्र बक्सर में नामांकन को लेकर 8 छात्रों ने टीसी लिया था। जिसपर जिला शिक्षा पदाधिकारी का काउंटर हस्ताक्षर जरूरी था। जिसमें दो छात्रों के सर्टिफिकेट पर डीईओ शर्मिला राय का काउंटर हस्ताक्षर सही थे। जबकि बाकी के छह छात्रों के कागजात पर डीईओ का काउंटर हस्ताक्षर ही फर्जी था। ज्ञात हो कि एकलव्य केंद्र बक्सर में वॉलीबॉल बालक का ट्रायल के लिए आवेदन आमंत्रित किया था। जिसमें बेगूसराय जिले से भी छात्र ट्रायल में शामिल हुए। जिसमें 8 छात्रों का चयन किया गया।

एकलव्य केंद्र में 20 छात्रों का नामांकन होना था

मालूम हो कि एकलव्य केंद्र में 20 छात्रों का नामांकन होना था। इसके लिए आठवीं कक्षा पास छात्रों को आवासीय प्रशिक्षण के लिए एकलव्य केंद्र बक्सर में नामांकन करना था। इसके लिए खिलाड़ियों को जिला शिक्षा पदाधिकारी का काउंटर हस्ताक्षर सहित दस्तावेज जमा करने के लिए कहा गया था। जिले के आठ छात्रों ने अपना-अपना कागजात जमा किया। इसी दौरान बक्सर में एकलव्य के आवासीय अधीक्षक अशोक कुमार ने चयनित छात्रों के दस्तावेजों की जब जांच शुरू की तो दस्तावेज में डीईओ के हस्ताक्षर में भिन्नता पाई गई।

जिसके बाद इसकी जानकारी बक्सर के खेल पदाधिकारी को दी गई। बक्सर के खेल पदाधिकारी ओमप्रकाश ने बेगूसराय जिला शिक्षा पदाधिकारी को डीईओ के हस्ताक्षर को सत्यापित कराने को लेकर छात्रों के द्वारा प्रस्तुत टीसी प्रमाण पत्र को भेजा गया। जब जांच किया गया तो पता चला कि 2 छात्र का हस्ताक्षर जिला शिक्षा पदाधिकारी ने काउंटर हस्ताक्षर के रूप में किया था। तो वहीं 6 छात्रों के टीसी पर डीईओ का हस्ताक्षर फर्जी बनाया गया हैे।

इन छात्रों ने जमा किया डीईओ के फर्जी हस्ताक्षर वाले काॅपी

उत्क्रमित मध्य विद्यालय दादपुर के छात्र गौतम कुमार, मध्य विद्यालय मधुरापुर के छात्र प्रियांशु, मध्य विद्यालय दुलारपुर के मुरारी कुमार, उत्क्रमित मध्य विद्यालय दुलारपुर के छात्र संदीप कुमार, उत्क्रमित मध्य विद्यालय आधारपुर के छात्र आनंद राज और मध्य विद्यालय ताजपुर के छात्र भारत भूषण के टीसी प्रमाण पत्र पर जिला शिक्षा पदाधिकारी का काउंटर साइन फर्जी पाया गया। जबकि मध्य विद्यालय रतनपुर के आकर्षण कुमार और उत्क्रमित मध्य विद्यालय अनुसूचित जाति तेघड़ा के छात्र उत्कर्ष राज का सर्टिफिकेट सही पाया गया।

जब इस संबंध में बक्सर के खेल पदाधिकारी ओम प्रकाश ने बताया कि छात्रों का ट्रायल के दौरान चयन हो गया था। लेकिन 6 छात्रों का टीसी से प्रमाण पत्र पर जिला शिक्षा पदाधिकारी का काउंटर साइन फर्जी पाया गया तो वहीं यह छात्र उम्र सापेक्ष में आठवीं के छात्र नहीं दिख रहे थे। जिसकी जानकारी छात्रावास अधीक्षक अशोक कुमार ने मुझे दी।

खबरें और भी हैं...