बेगूसराय से रेलवे इंजन पार्ट्स चोरी मामला:मनोहर साह ने रेल कोर्ट बरौनी में किया आत्मसमर्पण, भेजा गया जेल

बेगूसराय2 महीने पहले
बेगूसराय से रेलवे इंजन पार्ट्स चोरी मामला

पूर्व मध्य रेलवे सोनपुर मंडल के अंतर्गत गढहारा रेल इलेक्ट्रिक लोको विधुत शेड में महीनों से रेल इंजन के पार्ट्स की चोरी के मामले में नामजद आरोपी मुजफ्फरपुर निवासी कबाड़ी खाना के मालिक मनोहर साह ने रेलवे न्यायिक दंडाधिकारी बरौनी के समक्ष रेलवे न्यायलय बरौनी में शनिवार को आत्मसमर्पण किया।समर्पण बाद पुलिस की निगरानी में जेल भेज दिया गया।

मालूम हो कि रेल इलेक्ट्रिक लोको विधुत लोको शेड में समस्तीपुर लोको शेड का कुल 16 डीजल इंजन बीते वर्ष से रेलवे लाइन पर खड़ा था। ऊक्त डीजल इंजन से चोरों ने लाखों रुपये मूल्य का पार्ट्स समेत अन्य सामान चोरी की घटना को अंजाम दिया था। चोरी की घटना को लेकर रेल महकमा समेत वरीय अधिकारियों में खलबली मच गयी थी। वही इसके पूर्व इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। जबकि कबाड़ी खाना मालिक ने आत्मसर्पण किया। बता दें कि पूर्व मध्य रेल के सोनपुर मंडल अंतर्गत गढहरा विद्युत लोकोमोटिव शेड से बाउंड्री के नीचे से चोरों ने सेंधमारी कर रेल पार्ट्स की चोरी कर उसे मुजफ्फरपुर तक बेचकर खूब मुनाफा कमाया।

मुजफ्फरपुर से आरपीएफ ने इस दौरान लाखों रुपए कीमत की चोरी किए गए रेल पार्ट्स की बरामदगी भी की। दरअसल यह पूरा मामला उस वक्त सामने आया था जब बीते 7 नवंबर को आरपीएफ ने गश्ती के दौरान विद्युत लोकोमोटिव शेड के बाउंड्री वॉल के पास से एक चोर को रेल इंजन के पार्ट्स के साथ और रिंच के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद आरपीएफ की कार्रवाई बेगूसराय से लेकर मुजफ्फरपुर तक चली। जिसमें अब तक कुल 7 गिरफ्तारी हो चुकी है। इसी मामले में रेलवे के पार्ट्स खरीदने वाले मुजफ्फरपुर के कबाड़खाना संचालक मनोहर साह मुख्य नामजद अभियुक्त था जिसके नेपाल भागने की आशंका पर आरपीएफ सोई हुई थी उसने आरपीएफ के नाक के नीचे बरौनी रेल कोर्ट में आकर अपने आप को सरेंडर कर दिया।

खबरें और भी हैं...