लुस्की का हुलिया लेकर चुनचुन ने रचा बेगूसराय गोलीकांड:कुख्यात लुस्की सिंह को फंसाने की थी प्लानिंग, ताकि गैंग का हो वर्चस्व

पटना2 महीने पहलेलेखक: अमित जायसवाल

बेगूसराय सीरियल गोलीकांड मामले में एक चौंकाने वाली बात सामने आई है। शराब के अवैध कारोबार और अपराध की दुनिया में अपना दबदबा बनाने के चुनचुन ने अपने साथियों के साथ मिलकर सीरियल गोलीकांड की पटकथा रची थी। उसकी प्लानिंग थी कि वो बेगुनाहों को शिकार ये बनाएं और इसमें फंसे कोई और।

इसके लिए वारदात में शामिल एक अपराधी ने 13 सितंबर को अपना हुलिया वैसा ही कर रखा था, जिसे वो फंसाना चाहते थे। कपड़े भी उसी के तरह पहन रखे थे। यह अपराधी कोई और नहीं बल्कि चुनचुन था। जो बेगूसराय की पुलिस के द्वारा गिरफ्तार 4 अपराधियों में शामिल है।

सूत्रों की मानें तो इसने पूरी साजिश तेघड़ा के रहने वाले अपराधी लुस्की सिंह को फंसाने के लिए रची थी। दरअसल, बेगूसराय के तेघड़ा और बछवाड़ा में अपराधी लुस्की सिंह और उसका गैंग एक्टिव है। चुनचुन और उसके साथी इस फिराक में थे कि अपना दबदबा भी इलाके में बन जाएगा और बदनाम होगा लुस्की सिंह।

हत्या मामले में फरार है लुस्की सिंह

2 सितंबर की रात तेघड़ा में धनकौल पंचायत की सरपंच मीना देवी के घर अपराधियों ने धावा बोला था। महिला सरपंच के बड़े बेटे रजनीश कुमार और छोटे बेटे अवनीश राय को गोली मारी गई थी। जबकि, पति सुबोध राय की अपराधियों ने खूब पिटाई की थी, उनका हाथ तोड़ दिया था। इस वारदात में महिला सरपंच के छोटे बेटे की मौत हो गई थी। इस केस में अपराधी लुस्की सिंह नामजद है। वो तब से फरार चल रहा है।

लुस्की सिंह की फाइल फोटो।
लुस्की सिंह की फाइल फोटो।

व्हाइट शर्ट-हाफ पैंट है लुस्की की पहचान

सूत्र बताते हैं कि बेगूसराय में मरांची से बछवाड़ा तक लुस्की सिंह उसी का सिक्का चलता है। इस पूरे इलाके में शराब के अवैध कारोबार का नेटवर्क वही चलाता है। सीरियल गोलीबारी कांड से कुछ दिन पहले शराब की बड़ी खेप भी पकड़ी गई थी। जो इसने मंगवाई थी। लुस्की हमेशा व्हाइट शर्ट और हाफ पैंट पहनता है। ये इसकी सबसे बड़ी पहचान है। सीरियल गोलीबारी कांड में शामिल एक अपराधी उसी पहनावे में था। वो कोई और नहीं बल्कि पकड़ा गया चुनचुन था।

सीरियल गोलीकांड में जो पहली गोली चली उस जगह में और महिला सरपंच का घर जिस इलाके में है, दोनों के बीच की दूरी बहुत कम है। ऐसे में चुनचुन और उसके साथियों की प्लानिंग थी कि पुलिस यह समझे कि इस सीरियल गोली कांड के पीछे भी फरार अपराधी लुस्की सिंह ही हाथ है। चुनचुन ने यह प्लानिंग की थी कि पुलिस लुस्की को पकड़ती है तो फायदा उसका होगा। पूरे इलाके में शराब और अपराध में उसका नेटवर्क काम करेगा। चुनचुन की गैंग में 15-16 कई संख्या में अपराधी शामिल हैं।

चुनचुन इलाके में अपना दबदबा बनाना चाहता था।
चुनचुन इलाके में अपना दबदबा बनाना चाहता था।

प्लानिंग के तहत कैमरे के सामने आए

सूत्र का दावा है कि ये लोग एक प्लानिंग के तहत होटल कुणाल गए थे। ताकि, CCTV फुटेज में दिखने के बाद पुलिस का शक इनके ऊपर नहीं होगा। हालांकि, वारदात के बाद बाइक से भागते हुए अपराधियों की तस्वीरें भी कैमरे में कैद है। दरअसल, होटल कुणाल में तीन कैमरे लगे हैं।

एक कैमरे में बाइक से भागते दिखे तो दूसरी में शांत भाव के साथ, जो प्लानिंग वाला हिस्सा है। इसके जरिए ये अपराधी दिखाना चाहते थे कि हम होटल पर ही थे। सूत्र बताते हैं कि चुनचुन के इस खतरनाक प्लानिंग में केशव उर्फ नागा भी शामिल था। उसे भी इनके साथ जाना था, पर वो गया नहीं था।

खबरें और भी हैं...