सीने पर 7 कलश रखकर मां दुर्गा की आराधना:शराब के केस में जेल में बंद था, जमानत के लिए मांगी थी मन्नत

बेगूसराय4 महीने पहले
विकास कुमार अपने सीने पर सात कलश लेकर मां की आराधना में है।

बेगूसराय में शारदीय नवरात्र शुरू होते ही हर ओर भक्तिमय माहौल बना हुआ है। सभी श्रद्धालु अपने अपने तरीके से मां दुर्गा की आराधना में जुटे हैं। वहीं बरौनी तीन पंचायत स्थित छोटी दुर्गा मंदिर में मां दुर्गा का भक्त विकास कुमार अपने सीने पर सात कलश लेकर मां की आराधना में है।

बरौनी 3 पंचायत के वार्ड नंबर 3 निवासी शंकर महतो के पुत्र विकास कुमार कलश स्थापना से मां दुर्गा की पूजा अर्चना के साथ ही अपने शरीर पर मिट्टी के सात कलश को लेकर मां की आराधना में लीन है। करीब 200 साल पुरानी इस दुर्गा मंदिर में ऐसी मान्यता है कि यहां भक्तों की मांगी गई हर मुराद पूरी होती है। कामाख्या से छोटी बहन के रूप में मां दुर्गा को यहां लाया गया था और यहां स्थापित हुई थी।

मां दुर्गा से मांगी थी मन्नत

वहीं सीने पर कलश लिए विकास कुमार ने कहा कि स्थानीय पुलिस ने एक साल पूर्व शराब लदी एक पिकअप बरामद किया था। इसमें किसी ने विकास का नाम जोर दिया था, तो पुलिस ने बिना जांच के उसके पिता को पकड़ लिया और जब पिता को छुड़ाने अगले दिन वह थाना पहुंचा तो पुलिस ने उसे भी पकड़ लिया। इसके बाद जेल भेज दिया। लगभग 1 साल तक वह जेल में बंद रहा। वह जेल में ही मां दुर्गा से मन्नत मांगी थी। जिसके बाद उस के पिता और उसको एक साथ जमानत मिल गई थी। विकास इस मन्नत के पूरी होने के बाद पहली बार अपने सीने पर 7 कलश रख मां दुर्गा की आराधना में डूबा हुआ है।

पांच दिनों से विकास ने अन्न जल का कर दिया था त्याग

विकास एक सप्ताह पूर्व से ही भक्ति भाव में रम चुका था। 5 दिनों से अन्न-जल को त्याग दिया था। नवरात्र के पहले दिन सोमवार से वह अपने सीने पर कलश के साथ मंदिर में मां की भक्ति में लीन है। स्थानीय पुजारी और स्थानीय लोगों ने कहा कि इस मंदिर में भक्तों की मांगी गई हर मुराद पूरी होती है। दूर-दूर के लोग आते हैं और पूजा पाठ कर अपने परिवार के लिए सुख शांति समृद्धि की कामना करते हैं। मंदिर में श्रद्धालु सुबह शाम पूजा अर्चना करने में लगे हुए हैं।