जागरूकता से ही नशा पर लगाई जा सकती हैं रोक:सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने निकाली रैली, लोगों को किया जागरूक

बगहा (वाल्मिकीनगर)2 महीने पहले

मद्य एवं अवैध तस्‍करी निषेध पर रोक लगे। इसको लेकर एसएसबी मुख्यालय समेत सीमा चौकियों पर एसएसबी 21वीं वाहिनी द्वारा जागरूकता रैली निकाली गई। एसएसबी 21वी वाहिनी के कमांडेंट प्रकाश कुमार ने बताया कि मौजूदा समय में नशीली दवाओ का दुरुपयोग और उनकी तस्करी आए दिन बढ़ती जा रही है। जागरूकता ही रोकने का मुख्य उपाय है। इसलिए सभी अपने परिवार आस पास के लोगो मे इसका प्रचार प्रसार करें। ताकि इससे बहुत सी जिंदगी बचाई जा सके।

मादक पदार्थो के नशे की लत युवाओं मे तेजी से खेल रहा है। बच्‍चे तो फेविकोल, तरल इरेजर, पेट्रोल कि गंध और स्‍वाद से आकर्षित हो रहें हैं। चिकित्‍सकीय आधार पर देखें तो अफीम हेरोइन, चरस, कोकीन, तथा स्‍मैक जैसे मादक पदार्थों से व्‍यक्ति वास्‍तव में अपना मानसिक संतुलन खो बैठता है। वहीं उन्होंने बताया कि जवानों को सम्बोधित करते हुए हिदायतें दी कि वे नशे से दूर रहें। उन्होंने कहा कि नशा से मुक्ति के लिए समय-समय पर सरकार और स्‍वयं सेवी संस्‍थाऍ पहल करती रहती है।

नशा करने वाला व्‍यक्तिअपने समाज एवं परिवार से बिलकुल दूर हो जाता है तथा ज्‍यादा दुर्घटनाओं का शिकार होता है। गौरतलब हो कि वाहिनी के द्वारा अंतरराष्ट्रीय मध निषेध एवम तस्करी निषेध को 26 जून तक जागरूकता पखवाड़े मनाया जा रहा है। इसी क्रम में शुक्रवार को रैली का आयोजनकर लोगों को जागरुक किया गया। मौके पर वाहिनी कि अधिकारी मेडिकल टीम, अधिनस्‍थ अधिकारी व सभी जवान आदि उपस्थित थे।