वाल्मीकिनगर में मिला कॉमन कैट स्नेक:दुर्लभ प्रजाति का सांप देख पर्यटक हुए अचंभित, बिल्ली जैसी आंखों की वजह मिला नाम

बगहा (वाल्मिकीनगर)6 दिन पहले

वाल्मिकी टाइगर रिजर्व में रोमांच से भर जाने वाले पल सैलानियों को अक्सर देखने को मिल जाते है लेकिन करीब से और वह भी जब कैमरा ऑन हो और घटना कैमरे में कैद हो जाए तो फिर क्या कहना। ऐसा ही एक रोमांचित कर देने वाला वाकया VTR के जंगल में देखने को मिला। जिसका लोगों ने वीडियो बना लिया।

दरअसल कोतराहा गेस्ट हाउस के पास पर्यटकों ने एक अजीब सांप को देखा। लोगों की आंखें तब फटी की फटी रह गईं, जब उनकी नजर उसकी आंखों पर पड़ी। इस सर्प की आंखें बिल्ली की तरह का उभार लिए हुए थीं, जिसकी अजीब सूरत और सुस्त चाल से लोग सहम गए। सूचना मिलने पर वहां पहुंचे स्नेक रेस्क्यू टीम के सर्प मित्र सुनील ने सांप का रेस्क्यू कर VTR के जंगल में छोड़ दिया। बताया कि यह एक कामन कैट सर्प है, जिसे उसकी आंखों की आकृति के लिए यह नाम दिया गया है।

दुर्लभ प्रजातियों में से एक है कॉमन कैट स्नेक

कॉमन कैट स्नेक दुर्लभ प्रजातियों में से एक है। यह साप बहुत कम देखा जाता है। बिल्ली सांप निशाचर शिकारी होते हैं जो गोधूलि के समय सक्रिय हो जाते हैं। दिन में उनकी पुतलिया संकरी खड़ी झिल्लियों में सिकुड़ जाती हैं, लेकिन जैसे-जैसे रात होती है पुतलियाँ लगभग गोलाकार आकार में फैल जाती हैं ताकि जितना संभव हो उतना प्रकाश अंदर आ सके। इसलिए इसे निशाचर भी कहते हैं। यह साप छोटे पक्षियों, मेंढक, अंडे आदि का शिकार करता है। लेकिन ज्यादातर शिकार छिपकली या फिर गिरगिट का करता है।

हल्के जहर का है सांप

यह सब अपने अंदर बहुत ही हल्का जहर रखता है। इसकी खासियत होती है कि आदमी को देखते ही यह भागने लगता है। इसके काटने पर बहुत ही हल्का जहर लगता है। जिससे आदमी की मौत नहीं हो सकती। इस दी खासियत के वजह से रेस्क्यू करने वाले हमेशा इसे हाथों में उठा लेते हैं। यह साप चार से छह अंडे देते हैं।

खबरें और भी हैं...