संदेहास्पद स्थिति में स्वास्थ्य कर्मी की मौत:हरनाटाड स्वास्थ्य केंद्र में तैनात था स्वास्थ्य कर्मी, गोरखपुर का रहने वाला था

बगहा9 दिन पहले
मौके पर मौजूद अधिकारी।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हरनाटाड में कर केपीटीएम पद पर कार्यरत स्वास्थ्य कर्मी प्रदीप पांडेयकी संदेहास्पद परिस्थितियों में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मृतक प्रदीप पांडेय 47 वर्ष के थे। केपीटीएम प्रतिनिधि के रूप में स्वास्थ्य केंद्र हरनाटाड में विगत एक वर्षों से कार्यरत थे। स्वास्थ्य केंद्र के नजदीक ही एक निजी मकान में किराए पर रहते थे। प्रतिदिन के मुताबिक शुक्रवार को भी काम कर क्षेत्र से लौट अपने कमरे में चले गए। शनिवार वार की दोपहर तक जब रूम के अंदर कोई हरकत नहीं हुआ तो मकान मालिक ने संबंधित स्वास्थ्य विभाग में सूचना दिया। सूचना मिलते हैं स्वास्थ्य विभाग में तैनात कर्मी पुलिस को लेकर रूम पर पहुंचे। जहां दरवाजा खोलने पर प्रदीप पांडे को मृत पाया गया।

करंट लगने से हो सकती है मौत

मौके पर पहुंचे मृतक के छोटे भाई मनोज पांडेय ने संदेह जताया कि मृतक की मौत विद्युत आघात से हुई लगती है। इस बाबत लौकरिया थानाध्यक्ष अभय कुमार ने बताया कि सूचना पर शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। शरीर पर किसी प्रकार की कोई निशान नहीं पाया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत के सही कारणों का खुलासा हो पाएगा।

स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ संदीप कुमार राय मौके पर पहुंचे तो पाया कि उसकी मौत हो चुकी थी। उन्होंने तुरंत इसकी सूचना लौकरिया थाना तथा मृतक के परिजनों को दिया। थाना की पुलिस ने मृतक के परिजनों को इस संबंध में सूचित किया। शनिवार की देर शाम गोरखपुर से पहुंचे परिजन अपने देखरेख में कमरे से शव को बाहर निकलवा पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचे।

खबरें और भी हैं...