कार के लिए पत्नी को पीटता था उपमुखिया:बगहा में शादी के 3 माह बाद गला दबाकर हत्या, पिता बोले- सब बिखर गया...

बगहा (वाल्मिकीनगर)4 महीने पहले

बगहा में शादी के महज 3 महीने बाद एक महिला की हत्या हुई है। बताया जाता है कि दहेज के 5 लाख रुपए नहीं देने के कारण पति और सुसराल वाले प्रताड़ित करते थे। परिवार का आरोप है कि बेटी के साथ हमेशा मारपीट होती थी, अब गला दबाकर मार डाला। तीन माह पहले ही वाल्मीकीनगर के गनौली की प्रियंका की शादी चौतरवा के नदवा के अनिल गुप्ता के साथ हुई थी। अनिल साह हरदी नदवा पंचायत का उपमुखिया है। शादी के बाद से ही दहेज में बकाया के नाम पर 5 लाख रुपए की मांग की जा रही थी।

पोल में हिस्सा लेकर खबर पर अपनी राय दे सकते हैं।

महिला के परिजनों का आरोप है कि ससुरालवालों ने गला दबाकर हत्या कर दी है। इधर, इलाज कराने लाए ससुराल पक्ष के लोग डॉक्टरों द्वारा मृत घोषित किए जाने के बाद शव छोड़कर फरार हो गए। हालांकि पुलिस ने महिला के पति को गिरफ्तार कर लिया है। परिजनों ने 8 सदस्यों के खिलाफ FIR दर्ज कराई है।

5 फरवरी को हुई थी शादी

महिला की शादी हरदी नदवा गांव के स्वर्गीय नंदलाल साह के पुत्र अनील साह से हुई थी। परिजनों ने बताया कि 5 फरवरी को पूरे रीति रिवाज के साथ दोनों ने 7 फेरे लिए थे और उनसे दहेज के रूप में फोर व्हीलर की डिमांड की जा रही थी। अचानक बुधवार की रात उन्हें दामाद ने बताया कि बेटी की तबीयत खराब है और उसे हरनाटांड उप स्वास्थ्य केंद्र पर लाया गया है। जबकि लड़की उसी समय मृत अवस्था में थी।

प्रियंका और अनिल की शादी की तस्वीर।
प्रियंका और अनिल की शादी की तस्वीर।

लड़की के पिता भोला साह का कहना है कि दामाद ने फोन कर के बताया था। जब वे लोग पहुंचे तो बेटी प्रियंका कुमारी के गले पर निशान पाया, जिससे लगता है कि उसकी गला दबाकर हत्या की गई है। पुलिस ने दामाद को गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ जारी है।

शादी के मंडप में प्रियंका (फाइल फोटो)।
शादी के मंडप में प्रियंका (फाइल फोटो)।

मायके वाले पहुंचे तो ससुराल पक्ष हुआ फरार

हरदी नदवा से इलाज के लिए रास्ते में पड़ने वाले अनुमंडलीय अस्पताल में ले जाने की बजाए आरोपी ससुराल वाले मृतका के गांव के पास हरनाटांड लेकर गए। जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद ससुराल पक्ष के लोग शव छोड़ फरार हो गए। रात्रि करीब एक बजे मायके पक्ष के लोग आए और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद स्थानीय पुलिस ने शव को अनुमंडलीय अस्पताल भेज दिया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।