• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bettiah
  • Death Of Two Friends Who Went To Call Friend's Sister, One Recruit; The Friendship Of The Three Was An Example

बेतिया में एक साथ दो दोस्तों की निकली अर्थी:भाई की शादी में बहन को ससुराल से ला रहा था, दोस्त की भी गई जान; 9 दिन पहले ही हुआ था विवाह

बेतिया3 महीने पहले
शोकाकुल परिजन।

बेतिया के कवलापुर गांव में मातम पसरा है। मंगलवार को नौरंगीया थाना इलाके में सड़क हादसे में इनकी जान चली गई। मंगलवार को दो दोस्तों की अर्थी एक साथ निकली। यह देख हर किसी की आंखें नम हो गईं। एक मृतक रामबाबू चौधरी (22) की शादी 9 दिन पहले ही हुई थी। अभी पत्नी के हाथ की मेहंदी तक नहीं मिटी थी कि सड़क हादसे में मौत हो गई। वहीं, मृतक नागमणि (18) के भाई की शादी 20 मई को है, लेकिन बड़े भाई की बारात से पहले छोटे की अर्थी उठ गई। रामबाबू, नागमणि, बच्चन की दोस्ती गांव वालों के लिए मिसाल थी। तीनों गांव से बाहर भी हमेशा साथ में जाते थे। नवलपुर के कवलापुर गांव में 100 मीटर के अंदर ही तीनों का घर भी है।

बगहा में भीषण सड़क हादसा, 4 की मौत

मृतक नागमणि (18) के भाई की शादी 20 मई को है।
मृतक नागमणि (18) के भाई की शादी 20 मई को है।

क्या है मामला

दरअसल बेतिया के नवलपुर के कवलापुर निवासी उदय नारायण चौधरी के बड़े पुत्र मिथिलेश चौधरी की शादी 20 मई को थी। इसी शादी में मिथिलेश की बहन रिंकी देवी को शामिल होना था। उसे लेकर उदय नारायण के मंझले बेटे नागमणि अपने दो बचपन के दोस्तों के साथ वाल्मीकि नगर अपनी बहन रिंकू को लाने सोमवार की देर शाम गए थे। मंगलवार की सुबह लौटने के दौरान वीटीआर जंगल के बीच हरदिया चाती के पास तेज हवा के कारण अनियंत्रित होकर कार पेड़ से टकरा गई।

मृतक नागमणी चौधरी। (फाइल)
मृतक नागमणी चौधरी। (फाइल)

टक्कर इतनी जोरदार थी कि गाड़ी में सवार दो दोस्त की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जबकि 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं, सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। जहां इलाज के दौरान नागमणि की दोनों भगिनी श्वेता (7) और छोटी (4) की भी मौत हो गई। जबकि अभी भी नागमणि की बहन रिंकी देवी (35), बड़ी भगिनी कुमर कुमारी (9) और नागमणि के बचपन के दोस्त बच्चन चौधरी (20) व एक अन्य नेपाल की रिश्तेदार खुशबू कुमारी का इलाज चल रहा है। चारों की स्थिति अभी भी गंभीर है।

घर के बाहर शोकाकुल परिजन।
घर के बाहर शोकाकुल परिजन।

शादी के 9 दिन बाद एक-दूजे का छूटा साथ

रामबाबू चौधरी का शादी 8 मई को बेतिया के सिकटा थाना क्षेत्र के नरकटिया गांव के अमृता से हुआ था। शादी के 9 दिन ही अभी बीता था कि रामबाबू की सड़क हादसे में मौत हो गई। रामबाबू 6 भाई हैं। भाइयों में तीसरे नंबर पर रामबाबू थे। रामबाबू के पिता अवधेश चौधरी भी गांव में ही रहकर खेती बाड़ी का काम करते हैं। रामबाबू की मौत से घर में कोहराम मचा हुआ है। वहीं, रिश्तेदारों का हुजूम जुटा हुआ है। रामबाबू की पत्नी बार-बार बेहोश हो जा रही है।

रामबाबू चौधरी। (फाइल)
रामबाबू चौधरी। (फाइल)

शादी की तैयारी मातम में बदली

नागमणि के बड़े भाई मिथिलेश की शादी 20 मई को है। शादी की तैयारी घर में कर ली गई थी। रिश्तेदार भी आना शुरू कर चुके थे। इसी दौरान शादी में बहन को बुलाने गए छोटे भाई नागमणि और दो भगिनी की सड़क हादसे में मौत हो गई। अचानक खुशी का माहौल गम में बदल गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। नागमणि बाहर रहकर मजदूरी करते थे।