मलाही टोला का मामला:पति को दही लाने के लिए मायके भेज प्रेमी के साथ फरार हो गई नवविवाहिता

बेतिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 12 जून को हुई शादी, 13 को ससुराल आई थी

लौरिया प्रखंड के धोबनी पंचायत के मलाही टोला गांव की एक नवविवाहिता शादी के सात दिन बाद ही अपने प्रेमी संग फरार हो गई है। काफी खोजबीन के बाद भी जब वह नही मिली तो अनिता की मां लालमुनि देवी ने लौरिया थाना में अपने ही गांव के चौकीदार स्वर्गीय समतोला पासवान के पुत्र चंदन कुमार, नंदलाल चौधरी के पुत्र लक्ष्मण कुमार एवं चौकीदार की विधवा प्रेमशीला कुंअर के खिलाफ लौरिया थाना में अपनी बेटी को शादी की नियत से अपहरण करने की शिकायत दर्ज कराई है। थानाध्यक्ष विनोद कुमार ने बताया कि एक लालमुनि देवी का एक आवेदन मिला है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जांचोपरांत न्यायोचित कार्रवाई की जाएगी। मलाही टोला निवासी राजनेत चौधरी के 22 वर्षीय पुत्र त्रिभुवन कुमार की शादी इसी महीने 12 जून को शिकारपुर थाना क्षेत्र के मरहिया गांव निवासी मनोज चौधरी की 18 वर्षीय पुत्री अनिता कुमारी के साथ हुई थी। 13 जून को त्रिभुवन अपनी पत्नी अनिता कुमारी की विदाई कराकर अपने घर मलाहीटोला गांव लाया था।

20 जून को अनिता ने अपने पति त्रिभुवन कुमार को अपने मायके मराहिया गांव में अपने पिता के घर दही लाने भेज दिया। 20 की रात त्रिभुवन ने अपनी मां के मोबाइल पर फोन कर अनिता से बात की और बताया कि आज मैं यही रुक रहा, तुम खाना खाकर मां के पास सो जाना। 21 की सुबह त्रिभुवन की मां ने अपने पुत्र को फोन कर बताया कि तुम्हारी पत्नी घर पर नहीं है कही चली गई है। इसकी जानकारी त्रिभुवन ने अपने ससुराल वालों को दिया। जिसके बाद उसकी खोजबीन शुरू की गई। काफी खोजबीन के बाद अनिता की मां लालमुनि देवी ने इस मामले में एक आवेदन लौरिया थाना में दिया है। जिसमें अपने ही गांव के चौकीदार स्वर्गीय समतोला पासवान के 22 वर्षीय पुत्र चंदन कुमार, ग्रामीण नंदलाल चौधरी के 23 वर्षीय पुत्र लक्ष्मण कुमार, समतोला पासवान की पत्नी प्रेमशीला कुंअर को आरोपित किया है। लालमुनि ने आवेदन में आरोप लगाया है कि उपरोक्त सभी लोगों ने मिलकर उनकी बेटी का अपहरण शादी की नीयत से कर लिया है। यहां बता दें समतोला पासवान पहले शिकारपुर थाना में चौकीदार के पद पर कार्यरत थे। उनकी मौत के बाद उनकी पत्नी प्रेमशीला चौकीदार का काम देखती है।

खबरें और भी हैं...