बेतिया में एक गांव में चिकन पॉक्स का दहशत:लालगढ़ गांव में 50 से अधिक लोगों बीमार, लोग इस बीमारी को मान रहें माता का प्रकोप

बेतिया2 महीने पहले

बेतिया के योगापट्टी प्रखंड के पिपरा नौरंगिया पंचायत के लालगढ़ गांव में 50 लोग चिकन पॉक्स बीमारी से ग्रसित है। इस गांव में यह बीमारी घर-घर में पांव पसार चूका है। करीब एक माह से यह बीमारी गांव में फैली हुई है। हालांकि सभी पीड़ित लोग निजी स्तर पर अपना-अपना इलाज करा रहे हैं। लेकिन स्वास्थ्य विभाग की ओर से रोकथाम की दिशा में अब तक कोई पहल नहीं की जा रही है ना ही आज तक कोई टीम इस गांव में पीड़ितों की जांच के लिए आई है। वहीं गांव में कई लोग इस बीमारी को माता का प्रकोप मानते हुए तेल एवं घरेलू उपचार मे भी लगे हुए हैं।

लालगढ़ के 50 लोग इस बीमारी से ग्रसित है

लालगढ़ गांव में चिकन पॉक्स बीमारी से 50 लोग ग्रसित हैं। यह बीमारी घर-घर में पांव पसार चुकी है। पीड़ित में रमेश प्रसाद, अरविंद यादव, अशोक प्रसाद, लाल बहादुर महतो, रामचंद्र प्रसाद, मुन्ना शर्मा, पूर्व वार्ड सदस्य बद्री यादव, अयोध्या माझी, योगेंद्र शर्मा के घर के बच्ची रेखा कुमारी, अंकुश कुमार,नंदनी कुमारी, नीतीश कुमार समेत करीब 50 लोग का नाम शामिल है।

एक माह पहले आधा दर्जन घरों से इस बीमारी की हुई थी शुरुआत

ग्रामीण दिनेश शर्मा ने बताया कि एक माह से यह बीमारी गांव में फैली हुई है। एक माह पहले करीब आधा दर्जन घरों से इस बीमारी की शुरुआत हुई। धीरे-धीरे यह गांव में फैल गया। गांव में करीब 150 घर है। गांव में कुल 600 की आबादी है। वर्तमान में चिकन पॉक्स बीमारी से करीब 20 से 25 लोग ठीक हो चुके हैं। जबकि अभी भी पूरे गांव में 40 से 50 लोग इस बिमारी के चपेट में है।

सभी का इलाज प्राइवेट अस्पताल में कराया गया

ग्रामीणों ने बताया कि गांव में चिकन पॉक्स बिमारी से अनिल प्रसाद के घर में अभी सात रोज पहले तक सुंदरम कुमारी 8 वर्ष, मुस्कान कुमारी 5 वर्ष, छोटी कुमारी 2 वर्ष, गुड़िया देवी 30 वर्ष, प्रीति कुमारी 5 वर्ष, निखिल कुमार 7 वर्ष के अलावा अखिलेश प्रसाद के घर में भी 7 से 8 बच्चे बीमार थे। फिलहाल सभी ठीक हो चुके हैं। सभी का इलाज प्राइवेट अस्पताल में कराया गया है।

हालांकि महावीरपुर उप स्वास्थ्य केंद्र के ANM अनिता कुमारी ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में है। गांव में करीब 60 से 70 लोगों इस बीमारी से ग्रसित है। कुछ लोगों का सैंपल भी लिया जा चुका है। गांव में विटामिन ए लोगों को दिया गया है।

क्या बोले जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी
वहीं जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अवधेश कुमार सिंह ने बताया कि योगापट्टी से कंप्लेन आया था 20 जनवरी को तो वहां टीम को भेजा गया था और वहां से 14 केस रिकॉर्ड किया गया था। उसके बाद 21 तारीख को विटामिन ए की दवाइयां पिलाई गई और वहां से पांच पीड़ित का सैंपल भी कलेक्ट किया गया। सैंपल को 22 तारीख को लैब में भेज दिया गया है। अभी उसका जांच रिपोर्ट नहीं आ पाया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही मालूम चल पाएगा कि यह चिकन पॉक्स है या कुछ और।

खबरें और भी हैं...