कार्यक्रम:विकासात्मक एवं कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में लाएं तेजी : प्रभारी मंत्री

बेतिया6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर, नर्स एवं अन्य कर्मियों की ससमय उपस्थिति कराएं सुनिश्चित

लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग सह जिले के प्रभारी मंत्री ललित कुमार यादव की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना एवं जिले में संचालित अन्य सभी योजनाओं की अद्यतन प्रगति से संबंधित समीक्षात्मक बैठक समाहरणालय के सभागार में हुई। प्रभारी मंत्री ने कहा कि विकासात्मक एवं कल्याणकारी योजनाओं का ससमय क्रियान्वयन हो, इसे सुनिश्चित किया जाय। विभागीय दिशा-निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। माननीय विधायक के प्रश्न पर उन्होंने निर्देश दिया कि उद्घाटन, शिलान्यास वाले स्थल पर विभागीय निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन करते हुए शिलापट्ट का अधिष्ठापन कराया जाय। किसी भी माननीय के द्वारा इस प्रकार की शिकायत प्राप्त नहीं होनी चाहिए, इस हेतु कार्यकारी एजेंसी विशेष ध्यान देंगी। डीएम कुंदन कुमार द्वारा प्रभारी मंत्री को पूर्व के बैठकों में उठाये गये मुद्दों की कार्यवाही से अवगत कराया गया। साथ ही जिले में संचालित विभिन्न विकासात्मक एवं कल्याणकारी योजनाओं/कार्यक्रमों की अद्यतन स्थिति से भी अवगत कराया गया। प्रभारी ने कहा कि जीएमसीएच सहित जिले के सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों की स्थिति त्वरित गति से सुधारने की आवश्यकता है।

स्वास्थ्य संस्थानों में रोस्टर वाइज प्रतिनियुक्त डॉक्टर, नर्सेज तथा अन्य कर्मियों की ससमय उपस्थिति सुनिश्चित की जाय। मरीजों तथा उनके परिजनों को दी जाने वाली दवाइयां तथा अन्य सुविधाएं उन्हें हर हाल में मयस्सर हो, इसे सुनिश्चित किया जाय। इस अवसर पर लोकसभा सांसद संजय जायसवाल, राज्यसभा सांसद सतीश चन्द्र दुबे, विधायक राम सिंह, धीरेंद्र प्रसाद सिंह उर्फ रिंकू सिंह, नारायण प्रसाद, विनय बिहारी, वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता, रेणु देवी, भागीरथी देवी, रश्मि वर्मा, विधान पार्षद, भीष्म सहनी, सौरभ कुमार, उप विकास आयुक्त अनिल कुमार, पुलिस अधीक्षक, बेतिया उपेंद्र नाथ वर्मा, पुलिस अधीक्षक, बगहा, किरण कुमार गोरख जाधव, अपर समाहर्ता, राजीव कुमार सिंह, अनिल राय सहित सभी जिलास्तरीय पदाधिकारी उपस्थित रहे।

मंत्री के निरीक्षण में गायब मिले 18 डॉक्टर, मांगी रिपोर्ट

जिले के प्रभारी मंत्री ललित कुमार यादव ने बुधवार दोपहर जीएमसीएच का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में उन्होंने कई कमियां पाई। कहा कि कुछ कमी मिली है। उसके सुधार के लिए डीएम को निर्देश दिया गया है। यहां बता दें कि प्रभारी मंत्री समाहरणालय में समीक्षा बैठक कर रहे थे। बैठक के उपरांत पूर्व डिप्टी सीएम रेणु देवी ने जीएमसीएच की कमियों को बताते हुए उन्हें अस्पताल का निरीक्षण करने की बात कही। इसके बाद प्रभारी मंत्री को लेकर अस्पताल पहुंची। पूर्व डिप्टी सीएम व प्रभारी मंत्री को अचानक अस्पताल में देख वहां के कर्मी व व्यवस्थापक आनन फानन में सबकुछ व्यवस्थित करने लगे। बेडों पर चादर बिछने लगी। इसके बाद प्रभारी मंत्री ने अस्पताल प्रबंधन के साथ कुछ बाते की और कहा कि डीएम को सबकुछ दुरुस्त करने का निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...