बेतिया में एक ही परिवार से निकली दो अर्थी:मोतिहारी में सड़क दुर्घटना में चाचा-भतीजा की घटनास्थल पर ही हो गई थी मौत

बेतियाएक महीने पहले
मृतकों के परिजन।

बेतिया के मझौलिया थाना क्षेत्र के बरवां सेमराघाट पंचायत के ओझा मठिया गांव में बुधवार के दिन एक ही परिवार से दो अर्थी निकले से पुरे गांव में कोहराम मचा हुआ है। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल बना हुआ है। तो वही आस-पास के गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है। वहीं दोनों मृतक की पहचान मझौलिया के ओझा मठिया गांव निवासी रामसूरत ठाकुर के 50 वर्षीय पुत्र ओमप्रकाश ठाकुर एवं सीताराम ठाकुर के 30 वर्षीय पुत्र अखिलेश ठाकुर के रूप में हुआ है।

बता दें कि दोनों मृतक रिश्ते में चाचा भतीजा लगते थे। जानकारी के अनुसार मंगलवार को दोनों चाचा भतीजा अपने घर बेतिया के मझौलिया से मोतिहारी कोट गये हुए थे। देर शाम कोट से अपना काम निपटाने के बाद घर लौट रहे थे इसी दौरान मोतिहारी में ही तेज रफ्तार ट्रक ने दोनों को रौंद दिया जिससे दोनों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। सूचना पर पहुंची मोतिहारी पुलिस ने दोनों के शव को अपने कब्जे में लेकर मोतिहारी सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराने के बाद बुधवार की सुबह परिजनों को सौंप दिया है। वहीं परिजनों ने दोनों का एक साथ बुधवार के देर शाम ओझा मठिया श्मशानघाट पर दो अलग अलग चिता पर दोनों के शव का अंत्येष्टि किया। दोनों के लड़कों ने मुखाग्नि दी।

इस हादसे के बाद ओमप्रकाश ठाकुर की पत्नी मीना देवी तथा अखिलेश ठाकुर की पत्नी चिंता देवी का रो-रो कर बुरा हाल बना हुआ है। बता दें कि मृतक अखिलेश का दो बेटा तथा दो बेटी है,वही ओम प्रकाश का भी एक बेटा और एक बेटी है।उन्होंने बताया कि मृत व्यक्ति ओमप्रकाश ठाकूर गांव में खेती गृहस्थी करता थे जबकि उसका भतीजा अखिलेश ठाकूर गावं में ही कारपेंटर का काम करते था।

खबरें और भी हैं...