बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के कार्यक्रम में मंच पर पहुंचा शराबी:बेतिया में बोले संजय जायसवाल- एहि से नीतीश के हम कहेनी शराबबंदी खोल देवे के

बेतिया2 महीने पहले

बेतिया में BJP के एक कार्यक्रम के दौरान एक शराबी मंच पर चढ़ गया। जिस वक्त वो मंच पर चढ़ा बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल अपना भाषण दे रहे थे। शराबी अचानक से आया और लड़खड़ाते हुए उनके सामने खड़ा हो गया। उसके हाथ में एक प्लास्टिक थी। जो उसने संजय जायसवाल को दी। इसके बाद संजय जायसवाल ने कार्यकर्ताओं की तरफ इशारा किया और कार्यकर्ताओं ने उसे मंच से उतार दिया।

जैसे ही शराबी मंच से उतर रहा था संजय जायसवाल ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर मजाकिया लहेजे में तंज कसते हुए कहा कि एहि से नीतीश जी के हम कहेनी शराबबंदी खोल देवे के।

पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दीजिए...

शराबी को स्टेज से नीचे ले जाते कार्यकर्ता।
शराबी को स्टेज से नीचे ले जाते कार्यकर्ता।

दरअसल बेतिया शहर के सिटी शॉपिंग मॉल परिसर में बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री रेणु देवी, बीजेपी से चनपटिया विधायक उमाकांत सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पुस्तक मोदी@20 का विमोचन करने पहुंचे थे। जहां ये शराबी पहुंच गया। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जयसवाल वहां मौजूद लोगों को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान अचानक से एक शराबी उनके सामने आ गया।

संजय जायसवाल के हाथ में प्लास्टिक पकड़ाता शराबी।
संजय जायसवाल के हाथ में प्लास्टिक पकड़ाता शराबी।

मौके पर मौजूद सभी लोग यह देखकर दंग रह गए। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने उस शराबी को पकड़कर बाहर भगा दिया। इसके बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय जयसवाल ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए मजाकिया मूड में कहा कि- 'एहईसे नीतीश जी के हम कहेनी शराब खोल देवेके'। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के इस बयान के बाद वहां मौजूद सभी बीजेपी कार्यकर्ता, एवं अन्य लोग ठहाके मारकर हंसने लगे।

भाजपा की मानसिकता महिला विरोधी- जदयू

BJP प्रदेश अध्यक्ष के तंज पर जेडीयू के प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा कि बयान भाजपा की मानसिकता को दर्शाता है कि वे शराबबंदी के खिलाफ हैं। जब ये लोग हमारे साथ गठबंधन में थे तब भी शराबबंदी को लेकर सवाल उठाते थे। इनलोगों की मानसिकता महिला विरोधी, समाज विरोधी है। ये लोग कितनी भी कोशिश कर ले बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है और रहेगी।

नर्सिंग होम की आड़ में चल रही थी शराब फैक्ट्री:वैशाली में होम्योपैथी दवा से बनाई जा रही थी ब्रांडेड कंपनियों की शराब

वैशाली में नर्सिंग होम की आड़ में चल रही शराब फैक्ट्री का पर्दाफाश हुआ है। उत्पाद विभाग की टीम ने एक निजी नर्सिंग होम पर यहां छापेमारी की। जहां टीम ने मिनी शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया। दरअसल, उत्पाद विभाग को गुप्त सूचना मिली थी कि हाजीपुर सदर थाना क्षेत्र के सैदपुर रजौली गांव में अवैध शराब बनाई जा रही है। ऐसे में पुलिस जब वहां पहुंची तो उन्हें ब्रांडेड कंपनियों की नकली शराब मिली। वहीं, छापेमारी की भनक लगते ही शराब कारोबारी वहां से फरार हो गया। शराब छिपाने के लिए 10 फीट नीचे तहखाना भी बनाया गया था। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करिए...