पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर की खबर पर टूटी प्रशासन की नींद:मां-बाप की कोरोना से मौत पर बच्चों ने किया था अंतिम संस्कार, भास्कर में तस्वीर आई तो मदद को पहुंचे SDO, SDPO

अररिया4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अररिया में कोरोना से मरे दंपती के बच्चों की मदद को आगे आया जिला प्रशासन। - Dainik Bhaskar
अररिया में कोरोना से मरे दंपती के बच्चों की मदद को आगे आया जिला प्रशासन।

कोरोना के कहर ने इंसान को कितना लाचार कर दिया है, इसका मंजर दो दिन पहले अररिया के मधुलत्ता गांव में दिखा। इस गांव में एक पति-पत्नी की मौत कोरोना से हो गई थी। परिवार में मृतक की एक बूढ़ी मां और तीन बच्चे हैं। अंतिम संस्कार भी बच्चों ने खुद ही किया। दैनिक भास्कर में प्रकाशित वह तस्वीर देश के हर कोने तक पहुंच गई। 2 दिन बाद ही सही, लेकिन अररिया के प्रशासन की नींद टूटी और मानवता का परिचय देते हुए SDO और SDPO ने रविवार को मधुलत्ता गांव पहुंचकर पीड़ित बच्चों से मुलाकात की।

जल्द की जाएगी 4 लाख की मदद
रविवार को सदर SDO शैलेश चन्द्र दिवाकर, SDPO पुष्कर कुमार ने बच्चों को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि फौरी तौर पर स्थानीय डीलर के माध्यम से अनाज उपलब्ध करवाया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि बच्चों के मृत पिता के कागजात उपलब्ध होते ही बकाया 4 लाख का भुगतान भी जल्द किया जाएगा। SDO ने कहा कि वह और SDPO ने अपना निजी नंबर भी पीड़ित बच्चों को उपलब्ध कराया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत इस परिवार को 2 महीने का अनाज मुफ्त में दिया जाएगा।

बच्चे की पढ़ाई का खर्च उठाने वाले भी आगे आए
SDO के साथ मोहिनी देवी मेमोरियल स्कूल और अस्पताल के संचालक डॉ संजय प्रधान भी थे, जिन्होंने मृतक के छोटे लड़के की 12वीं तक पढ़ाई का जिम्मा उठाया। इस मौके पर अधिकारियों ने बच्चों को खाद्य सामग्री भी उपलब्ध करवाई। बता दें कि मधुलत्ता गांव के बीरेंद्र मेहता की मौत बीते सोमवार को पूर्णिया में कोविड की वजह से हो गई थी, जबकि शुक्रवार को पत्नी प्रियंका देवी की मौत भी कोरोना से हुई। अंतिम संस्कार के लिए गांव के एक भी लोग आगे नहीं बढ़े, थक-हार कर बड़ी पुत्री सोनी ने खुद गड्ढा खोदकर अपनी माता के शव को दफनाया।

अररिया में गड्‌ढा खोद कर मां के शव को दफनाती बच्ची की फाइल फोटो।
अररिया में गड्‌ढा खोद कर मां के शव को दफनाती बच्ची की फाइल फोटो।

( अररिया से मन्टू भगत के इनपुट के साथ)

खबरें और भी हैं...