पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीकाकरण अभियान:पहले दिन शत-प्रतिशत उपलब्धि का अनुमान : जिलाधिकारी

अररिया11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टीकाकरण केद्र में टीका लगवाने के लिए पहुंचे लोग। - Dainik Bhaskar
टीकाकरण केद्र में टीका लगवाने के लिए पहुंचे लोग।
  • अभियान को सफल बनाने की मुहिम में दिन भर जुटे रहे विभागीय अधिकारी

जिले में दो दिवसीय विशेष कोरोना टीकाकरण अभियान सोमवार से शुरू हुआ। दूसरे डोज के टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिये संचालित इस अभियान के पहले दिन 55 हजार लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित था। इसके लिये जिले के विभिन्न प्रखंडों में 329 टीकाकरण सत्र का संचालन किया गया। अभियान के सफल संचालन को लेकर कुल 6788 वैक्सीन वायल का वितरण प्रखंडवार किया गया था। शुरुआत में सत्र स्थलों पर टीकाकरण की गति थोड़ी सुस्त रही। लेकिन बाद में इसने रफ्तार पकड़ना शुरू कर दिया। लिहाजा दोपहर 01 बजे तक 11731 लोगों के टीकाकरण से संबंधित डाटा कोविन पोर्टल पर अपलोड किया हो चुका था। इसी तरह दोपहर 03 बजे तक 20,856 लोगों का डाटा पोर्टल पर अपलोड हो चुका था। स्वास्थ्य अधिकारियों की मानें तो डाटा इंट्री कार्य में हो रही देरी की वजह से टीकाकृत लोगों का वास्तविक डाटा फिलहाल सामने नहीं आ सका है। लेकिन विभिन्न प्रखंडों से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक अभियान के पहले दिन 50 हजार से अधिक लोगों के टीकाकरण का अनुमान है। जो निर्धारित लक्ष्य के बेहद करीब है।

डीएम निरंतर करते रहे डाटा इंट्री कार्य की मॉनिटरिंग
टीकाकरण अभियान में कोविन पोर्टल पर लाभुकों से संबंधित डाटा का संधारण शुरू से ही चुनौतीपूर्ण बना हुआ है। इस बार जिलाधिकारी के निर्देश पर डाटा इंट्री का कार्य ससमय पूरा करने को लेकर विशेष तैयारियां की गयी थी। प्रखंड मुख्यालयों में पर्याप्त संख्या में डाटा इंट्री ऑपरेटर तैनात किये गये थे। जिलाधिकारी प्रशांत कुमार सीएच डाटा इंट्री कार्य का अपने स्तर से लगातार मॉनिटरिंग करते नजर आये।

वंचित लोग प्राथमिकता के आधार पर लें दूसरी डोज

संक्रमण के खतरों से बचाव के लिये टीका के दोनों डोज को महत्वपूर्ण बताते हुए जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ मोईज ने बताया कि देश में कोरोना संक्रमण का मामला फिर तेजी से बढ़ रहा है। इसे लेकर विशेष एहतियात बरतने की जरूरत है। कोरोना से बचाव का टीकाकरण ही एक मात्र जरिया है। सुरक्षा के लिहाज से कोरोना टीका की दोनों डोज बेहद जरूरी है। लिहाजा टीका की दूसरी डोज से वंचित लाभुक प्राथमिकता के आधार पर अपने दूसरी डोज का टीकाकरण सुनिश्चित करायें। जो आपके व पूरे समाज की सुरक्षा को महत्वपूर्ण है।

खबरें और भी हैं...