पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:पानी के प्रवाह को बाधित करने से 55-60 एकड़ में धान की फसल बर्बाद

पलासी11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हाथ में धान का पौधा लिए किसान। - Dainik Bhaskar
हाथ में धान का पौधा लिए किसान।
  • किसानों ने क्षति का आकलन कर की मुआवजा देने की मांग

प्रखंड क्षेत्र के मजलिसपुर पंचायत अंतर्गत भटवार गांव के दर्जनों किसानों का 55-60 एकड़ में लगे धान के फसल पानी के बहाव को मछुआरों द्वारा बाधित किये जाने से बर्बाद हो गया है। प्राप्त जानकारी मुताबिक इन खेतों के बगल से होकर एक धार बहती है। जिससे पानी का बहाव होता रहता है। आस-पास के मछुआरों द्वारा जगह-जगह बांध बनाकर मछली पकड़ने के लिए पानी के बहाव को बाधित कर दिया जाता है। जिससे फसल बर्बाद हो गया है। किसानों ने कहा कि धान का फसल बर्बाद होने के कारण हमलोगों के सामने भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो गई है। सीओ ने राजस्व कर्मचारी को जल जीवन हरियाली अभियान के तहत स्थल जांच कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है। प्रभावित किसानों में आशुतोष कुमार, कमलेश कुमार, गिरिजानंद चौधरी, तारानंद चौधरी, आशीष कुमार, रुपेश कुमार, ब्रम्हानंद चौधरी, राजा कुमार चौधरी, सोना देवी, बासुकीनाथ चौधरी, रमेश चौधरी आदि शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...