कार्रवाई:अवैध हथियार बरामदगी मामले में सात साल का सश्रम कारावास

अररिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कुलानंद को पुलिस ने किया था गिरफ्तार

अररिया एसीजेएम षष्टम के न्यायाधीश देवराज की कोर्ट ने अवैध हथियार बरामदगी मामले में स्पीडी ट्रायल करते हुए अभियुक्त कुलानंद बहरदार को दोषी मानते हुए सात साल की सश्रम कारावास और पांच हजार रुपये जुर्माना की जी सजा सुनाई है। जुर्माना की राशि अदा नहीं किये जाने पर दोषी को तीन माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।
कोर्ट ने यह सजा आर्म्स एक्ट 26 (1) के तहत सजा सुनाई है।
यह मामला नरपतगंज थाना कांड संख्या-09/2021, जीआर संख्या-39/2021 से जुड़ी है। जिसमें नरपतगंज के फतेहपुर निवासी हरिलाल बहरदार के 30 साल के पुत्र अभियुक्त कुलानन्द बहरदार को पुलिस ने अवैध आर्म्स के साथ गिरफ्तार किया था। इस मामले की कोर्ट स्पीड ट्रायल कर रही थी।
कोर्ट में अभियुक्त ने अपने पास से बरामद अवैध हथियार को लेकर पूछताछ के क्रम में कोई संतोषप्रद जबाब नहीं दिया था और ना ही किसी तरह की कागजात की प्रस्तुति की गई। जिसके बाद कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए अभियुक्त कुलानन्द बहरदार को सजा सुनाई। बचाव पक्ष की ओर से अजीत कुमार राय ने अपना पक्ष रखा। जबकि सरकार की ओर से मनोज अग्रवाल ने बहस की।

खबरें और भी हैं...