पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डकैती की घटना:डकैतों ने पहले सीसीटीवी तोड़ा, फिर गेट तोड़ घर में घुसे और आधे घंटे में डकैती कर फरार

अररिया आरएस11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चोरी की घटना के बाद घर में बिखरे सामान। - Dainik Bhaskar
चोरी की घटना के बाद घर में बिखरे सामान।
  • अररिया वार्ड-3 में घर महिलाओं को बंधक बनाकर डकैती, पिता-बेटा को पीटा

अररिया वार्ड-3 निवासी व्यवसायी विजय कुमार गुप्ता के घर में डकैतों ने सबसे घर से बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे को तोड़ दिया। हालांकि कैमरा पहले से ही बंद था। इसके बाद डेढ़ दर्जन डकैतों ने 2-3 मिनट में कुल्हाड़ी और सिल्ला-लोढ़ी से घर का दरवाजा तोड़कर एक बजे रात में घर में प्रवेश किया और आधे घंटे में 10 की संपत्ति डकैती कर 1.30 बजे घर से फरार हो गए। उधर, पुलिस का कहना है कि यदि कैमरा खुला होता तो अपराधियों का शिनाख्त जल्द ही कर लिया जाता। डकैती ने व्यवसायी के घर के सामने रेलवे लाइन के उत्तर एक घर में लगे सीसीटीवी कैमरा की जांच की गई। जिसमें देखा जा रहा है कि कुछ लोग टॉर्च जलाकर आसपास से आ रहे हैं, जबकि डॉग स्क्वायड की मुरली भी उसी मार्ग से गुजरते हुए निकली। डीएसपी पुष्कर कुमार ने बताया कि दो दिनों में अपराधियों को चिन्हित किया जाएगा।

तीन दिन की बिक्री की राशि व जेवरात लूट लिए
व्यवसायी विजय कुमार गुप्ता ने बताया कि वे किराना का थोक में खुदरा व्यवसाय करता है। बीते शुक्रवार से बिक्री की राशि किसी कारणवश बैंक में जमा नहीं करा पाया था। अपराधी सारे नगदी लेकर चलते बने। व्यवसायी ने बताया कि बिक्री की राशि को उन्होंने गिनकर नहीं रखी थी। इसके कारण फिलहाल नहीं कहा जा सकता है कि डकैतों ने उसके घर से कितनी राशि ली। लोगों पर यकीन करें तो 5 लाख से अधिक की राशि होगी। 5 लाख से अधिक के जेवरात भी लूटने की बात व्यवसायी ने बताई है।

पत्नी के साथ पुत्र और एक छोटी बेटी थी घर में
व्यवसायी ने बताया कि उसे तीन पुत्री और एक पुत्र है। एक पुत्री की शादी पटना में है। दूसरी बेटी बड़ी बेटी के साथ ही पटना में रहती है। घर में पुत्र और एक छोटी बेटी रहती है। उन्होंने बताया कि जब डकैत फाटक को तोड़ रहे थे तो पहले वे लोग समझे कि चोर है।

बेटे ने अंतिम क्षण तक अपराधियों को किया रोकने का प्रयास
पीड़ित व्यवसायी ने बताया कि अपराधी कुल्हाड़ी से फाटक को तोड़ने लगे तो उसके बेटा विकास ने फाटक को अंदर से मजबूती के साथ थाम लिया, लेकिन तीन चार अपराधियों ने टूटे फाटक को बाहर से इतना कसकर धकेला कि पुत्र फाटक को नहीं बचा सका और वह नीचे गिर पड़ा। इसके बाद भी अपराधी ने कुल्हाड़ी से उसके सिर पर वार कर दिया। कुल्हाड़ी के वार से व्यवसायी पुत्र वहीं अचेत होकर गिर पड़ा।

शिनाख्त के लिए पहुंची डॉग स्क्वायड टीम मुरली
डीएसपी पुष्कर कुमार ने अपराधियों की शिनाख्त के लिए पूर्णिया से डॉग स्क्वायड की टीम को बुलाया। डॉग स्क्वायड की टीम में शामिल मुरली ने घर मे बिखरे पड़े सामान को सूंघकर घटनास्थल से करीब एक किलोमीटर दूर वार्ड संख्या एक रहिकपुर होते हुए धामा हल्दिया जाने वाली मार्ग में गयी। करीब एक घंटे तक वैसी कोई चीज नहीं ढूंढ पाई, जिससे तत्काल अपराधियों को शिनाख्त की जा सके, लेकिन पुलिस को एक दिशा जरूर दे गई कि घटना के बाद अपराधी रहिकपुर होते हुए भागे।

खबरें और भी हैं...