दो दिन में आठ मौतें / पेमा धार में भाई-बहन समेत तीन व एक बच्ची की बसैटी के पोखर में डूबकर मौत

शव को देखते स्थानीय ग्रामीण और परिजन। शव को देखते स्थानीय ग्रामीण और परिजन।
शव को देखते स्थानीय ग्रामीण और परिजन। शव को देखते स्थानीय ग्रामीण और परिजन।
X
शव को देखते स्थानीय ग्रामीण और परिजन।शव को देखते स्थानीय ग्रामीण और परिजन।
शव को देखते स्थानीय ग्रामीण और परिजन।शव को देखते स्थानीय ग्रामीण और परिजन।

  • 3 बच्चे चातर पंचायत स्थित पेमा धार में नहाने गए थे व एक बच्ची बसैटी में रास्ता भटक पोखर के पास चली गई जहां उसका पैर फिसल गया
  • सनगोरा गांव के 6 वर्ष के बच्चे की सोमवार को हुई थी मौत
  • इधर, बीते दिनों डूबकर मरने वाले तीन लोगों का शव मंगलवार को मिला

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

अररिया ,रेणुग्राम. मंगलवार को नगर थाना के चातर पंचायत स्थित पेमा धार में दो भाई-बहन समेत तीन बच्चों की डूबने से मौत हो गई। 3 घंटे के बाद बच्चों के शव को ग्रामीणों ने निकाला। वहीं, बौसी थाना क्षेत्र बसैटी पंचायत में पूर्णिया के श्रीनगर निवासी मंगली देवी की 4 वर्षीय पुत्री की पोखर में डूबने से मौत हो गई। इन सब के अलावा बीते दो दिन में चार अलग-अलग स्थानों पर डूब कर मरे तीन का शव मंगलवार को बरामद हुआ है। जबकि एक बच्चे की सोमवार को डूबकर मौत हुई है। वहीं, बारिश बाद नदियों के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रहा है। इस कारण नदी के आस पास के क्षेत्रों में लोग अब डूब रहे हैं। अब तक बच्चे समेत कुल 8 लोगों की जान डूबने से हो चुकी है।
तीनों बच्चे स्थान करने और एक रास्ता भटककर पोखर तक पहुंची : जिन तीन बच्चों की मौत हुई है उनमें बिसनपुर चौघरिया के अबुशामा की 10 वर्षीय बेटी गुड्डी व 12 साल का मोब्सिर शामिल है। जबकि तीसरा बच्चा  8 वर्षीय मंसूर का बताया जा रहा है। पूर्व सरपंच इलयास हुसैन ने बताया कि दो दिन से पेमा धार उफान पर है। तीनों बच्चें स्नान के लिए नदी में उतरे थे, जिस दौरान वे बह गए। परिजनों ने काफी खोजबीन की तो नदी में तीनों का शव बरामद हुआ।  घटना की सूचना नगर थाना पुलिस को दी गई। इसके बाद पुलिस ने तीनों बच्चों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, पूर्णिया श्रीनगर चनका निवासी विलास ऋषिदेव अपनी पत्नी मंगली देवी और बच्चों के साथ बीते शनिवार को ससुराल बसैटी में महेंद्र ऋषिदेव के घर आएं थे। मंगलवार की सुबह करीब सात बजे विलास ससुर के साथ मजदूरी करने चले गए। इस दौरान उनकी बेटी प्रियंका उनके पीछे निकल गई और रास्ता भटककर घर के समीप पोखर के तरफ चली गई। जहां पैर फिसलने से बच्ची पोखर में डूब गई। ग्रामीण जब तक बच्ची को पोखर से निकालते तब तक बच्ची की मौत हो चुकी थी।

अब तक इन लोगों की डूबने से हुई मौत, जिनका शव बरामद हुआ
बांसबाड़ी जाने वाली मार्ग में ईंट भट्ठा से पहले कलवर्ट के पास दो दिन पहले डूबने से युवक की मौत हो गई थी। जिसका शव मंगलवार को नाव चालक और स्थानीय गोताखोरों ने पानी से निकाला। नगर थाना की पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। वहीं, बैरगाछी डायवर्सन के पास नहाने के दौरान एक युवक की मौत हुई थी जिसका शव भी मंगलवार को बरामद हुआ है। युवक जुल्फिकार खान अपने दोस्तों के साथ डायवर्सन के कटाव स्थल पर नहाने के लिए गया था। इस दौरान वह डूब गया। उसका शव भंगिया पूल के पश्चिम बांस की झाड़ियों में मिला है। समाजसेवी पूर्व मुखिया प्रतिनिधि शाद अहमद बबलू ने बताया कि मृतक के परिजन ने बैरगाछी ओपी में लिखित आवेदन दिया है की हमें कोई सरकारी सहायता नहीं चाहिए। जुल्फिकार यहया खान का पुत्र था। इन सब के अलावा पलासी के रामनगर पंचायत के सनगोरा गांव वार्ड 9 में खेलने के दौरान 6 साल के बच्चे की भी मौत हो चुकी है।

मुआवजे के लिए कागजी प्रक्रिया होगी
नगर थाना के एसएचओ किंग कुंदन ने बताया कि उनके थाना क्षेत्र में चार शव डूबने से मिला है। चारों शवों का पोस्टमार्टम कराया गया है। सरकारी  प्रावधान के अनुसार मृतक के परिजनों को मुआवजा देने के कागजी प्रक्रिया की जाएगी।

पीड़ित परिजन को मुआवजा देने की मांग
इसके अलावा सिमराहा थाना क्षेत्र के खवासपुर वार्ड नंबर 9 के 65 वर्षीय रामानंद सिंह की रविवार को डूबकर मौत हुई थी जिनका शव मंगलवार की सुबह घर से कुछ दूरी गुरम्ही के पास परमान नदी के छाडन अहरी में पाया गया। मृतक शनिवार को हाट के लिए निकले थे। पर घर नहीं लौटे। खोजबीन की गई तो उनका कपड़ा नदी किनारे मिला। इसके बाद परिजनों ने नदी में डूबने की आशंका जताई थी। पीड़ित परिजनों को मुआवजा देने की मांग की गई है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना