उरलाहा गांव की घटना:पत्नी और उसके प्रेमी को फंसाने के लिए पिता ने सहयोगी के साथ की बेटी की हत्या

अररिया/पलासी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार हत्यारा पिता। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार हत्यारा पिता।
  • पुलिस के समक्ष आरोपियों ने कबूला जुर्म, कहा- पत्नी और उसके प्रेमी ने दी थी बेटी की हत्या की धमकी
  • पिता ने उठाया फायदा, बच्चों को लेकर प्रेमी संग भागी थी महिला

लोगों को क्या पता था कि जिस पुत्री को मुखाग्नि देकर गले में उतरी पहने हैं, उसका हत्यारा कोई और नहीं बल्कि खुद पिता ही हैं। इस बात का खुलासा तब हुआ जब पुलिस ने अपने अनुसंधान और किए गए जांच के बाद नौ वर्षीय बच्ची की हत्या के आरोप में पिता सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के बाद यह बात भी सामने आया कि आरोपि पिता अपनी पत्नी और उसके प्रेमी की धमकी को भुनाने के लिए बेटी की हत्या कर दी है। जिसका शव उरलाहा गांव से 6 किमी दूर धनगामा गांव में सोमवार की रात जंगल से बरामद हुआ था। मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी राजेश पंडित हरियाणा में अपनी पत्नी व बच्चों के साथ रहता था और वहीं नौकरी करता था। इस दाैरान उसके पत्नी किसी अन्य युवक के साथ बच्चों को लेकर भाग गई। जिसके बाद राजेश पत्नी से अपने बच्चों को लेकर गांव वापस लौट आया। इसके बाद पंचायत चुनाव के दौरान राजेश की पत्नी प्रेमी के साथ गांव पहुंची और बच्चे को मांगने लगी, लेकिन उसने देने से इनकार कर दिया। जिस पर पत्नी और उसके प्रेमी ने अपहरण कर हत्या करने की धमकी दी थी। इसी धमकी को भुनाने के लिए आरोपी पिता राजेश पंडित ने दो ऑटो रिक्शा चालक के साथ मिलकर अपनी पुत्री की हत्या कर दी, ताकि उसकी पत्नी और उसका प्रेमी फंस जाय। हालांकि हत्या के बाद राजेश ने सूरज मांझी व अपनी पत्नी के खिलाफ हत्या का आरोप लगाते हुए थाने से शिकायत की थी।

ऑटो रिक्शा चालकों के साथ मिल कर की हत्या
उरलाहा गांव के राजेश पंडित ने अपनी नौ वर्षीय पुत्री हजारी कुमारी की हत्या दो ऑटो रिक्शा चालकों के साथ मिलकर तीन जनवरी की रात को की थी। यह स्वीकारोक्ति आरोपियों ने पुलिस के समक्ष की है। दरअसल सोमवार की रात लाश मिलने की खबर पर मंगलवार की सुबह पलासी पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और पोस्टमार्टम के लिए भेजा था। लेकिन उस वक्त राजेश पंडित की पत्नी के प्रेमी सूरज माझी की पहली पत्नी ने पुलिस को उसी वक्त कहा था कि यह हत्या राजेश पंडित ने की है। बताया जाता है कि पलासी पुलिस ने आरोपी पिता को उसी दिन हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी। पूछताछ के दौरान उन्होंने बताया कि बरहट गांव के दो ऑटो रिक्शा चालकों जईम पिता सफीद व हसीब पिता सगीर के साथ मिलकर बेटी के गले में फंदा लगाकर
हत्या की।

नशेड़ी किस्म का है आरोपी राजेश पंडित
जानकारी के अनुसार राजेश पंडित नशे का आदी है। खासकर जब से उसकी पत्नी हरियाणा से सूरज मांझी के साथ रहने लगी तब से वह पुत्री और 4 वर्षीय पुत्र के साथ घर में रहता था। सूत्रों की माने तो राजेश ने अपने घर की कहानी इस दोनों ऑटो चालक को बताई थी। बताया जाता है कि ऑटो चालक के कहने पर ही राजेश ने यह कदम उठाया। लेकिन सूत्रों की मानें तो जिस वक्त बच्ची की हत्या की जा रही थी तो उस वक्त भी राजेश अंत समय में भागने लगा, लेकिन दोनों ऑटो चालक ने उसे समझाया और कहा कि हत्या का आरोप सूरज मांझी और उसकी पत्नी पर लगा देंगे। पुलिस ने मंगलवार को ही राजेश को हिरासत में लिया था और पुलिस के कस्टडी में ही बच्ची का अंतिम संस्कार भी करवाया गया। गिरफ्तारी की पुष्टि थानाध्यक्ष शिवपूजन कुमार ने की है।

बच्ची ने पिता के साथ रहने की जताई थी इच्छा
एक वर्ष पहले राजेश पंडित अपनी पत्नी व दो बच्चों हजारी कुमारी और प्रधान पंडित के साथ हरियाणा में मजदूरी करता था। एक दिन अचानक राजेश पंडित की पत्नी सरला देवी दोनों बच्चों के साथ घर से गायब हो गई। खोजबीन के दौरान राजेश पंडित को जानकारी मिली कि पत्नी नकटा कॉलोनी के रहने वाले सूरज मांझी जो हरियाणा में ही रहकर मजदूरी करता था के साथ रह रही है। राजेश पंडित सूरज मांझी के घर गया तो देखा कि उसकी पत्नी और दोनों बच्चा वहां मौजूद हैं। इन्होंने अपने साथ लाने की कोशिश की। परंतु सरला देवी ने इनकार कर दिया। फिर राजेश पंडित ने थाना में इस मामले को लेकर सूरज मांझी और अपनी पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। हरियाणा पुलिस ने पहल की और राजेश पंडित की पत्नी सरला देवी को पति के साथ जाने के लिए कहा तो उसने मना कर दिया। बच्चों से पूछा गया तो दोनों बच्चे अपने पिता के साथ रहने के लिए तैयार हो गए थे।

खबरें और भी हैं...