पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:मैंने जिन 28 को पॉजिटिव बताया उनकी किट पर बनी थी 2 लाइन, यही कोरोना संक्रमित होने की पहचान: डॉ. वंदना

असरगंज7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दोबारा जांच: चोरगांव में शुक्रवार को नवमीं की छात्रा का कोरोना जांच के लिए सैंपल कलेक्ट करते स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
दोबारा जांच: चोरगांव में शुक्रवार को नवमीं की छात्रा का कोरोना जांच के लिए सैंपल कलेक्ट करते स्वास्थ्यकर्मी।
  • ममई स्कूल में 25 बच्चे सहित 28 कोरोना पॉजिटिव मिले सभी 24 घंटे बाद ही निगेटिव
  • मामले में सीएस और जांच करने वाली डॉक्टर में तकरार एंटीजन किट पर उठे सवाल

कोरोना का एंटीजन टेस्ट प्रेग्नेंसी जांच की तरह होता है। पॉजिटिव मिलने पर एंटीजन किट पर दो लाइन बनती है। जबकि निगेटिव रहने पर एक लाइन बनती है। मैंने जिन 28 लोगों को गुरुवार को पॉजिटिव बताया, उन सभी की रिपोर्ट में एंटीजन किट पर दो लाइन थी। यह कहना है असरगंज के लाल बहादुर शास्त्री किसान उच्च विद्यापीठ ममई में गुरुवार को बच्चों सहित विद्यालयकर्मियों की जांच करने वाली आरबीएसके की चिकित्सक डॉ. वंदना का। गुरुवार को इस स्कूल में लगे कोरोना जांच शिविर में डॉ. वंदना मौजूद थी। उन्होंने ही 18 छात्राएं, 7 छात्र, दो शिक्षक और एक आदेशपाल को कोरोना पॉजिटिव बताया था। बिहार में स्कूल खुलने के चौथे ही दिन एक साथ 25 बच्चों में कोरोना की पुष्टि होने के बाद यह नेशनल न्यूज बनी। जिसके बाद यह सरकार के फैसले के साथ-साथ शिक्षा और चिकित्सा विभाग की व्यवस्था पर भी सवाल खड़े होने लगे। जिसके बाद गुरुवार शाम नियम के विरुद्ध पॉजिटिव मिले सभी लोगों की रिपिट जांच कराई गई। गुरुवार शाम प्रभारी सीएस अजय भारती, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी असरगंज ललन सिंह के नेतृत्व में सजुआ के 7 कोरोना पॉजिटिव की गई। जिसमें सभी सातों की रिपोर्ट निगेटिव मिली। इसके अलावा परिवार के 23 सदस्यों की रिपोर्ट भी निगेटिव आई। फिर ममई गांव के भी 9 कोरोना पॉजिटिव पाए गए छात्र-छात्राओं की पुनः जांच हुई। इन सभी की रिपोर्ट भी निगेटिव मिली। शुक्रवार को शेष बचे 12 लोगों की जांच हुई, जिसमें सभी निगेटिव मिले। जिसके बाद सीएस ने बताया कि सभी 28 लोग निगेटिव मिले है। मानवीय चूक के कारण 28 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

यदि एक में भी मिला कोरोना तो कम्युनिटी स्प्रेड की आशंका
चिकित्सकों की मानें तो एंटीजन किट से कोरोना पॉजिटिव पाए गए मरीजों की जांच 14 दिनों के बाद होनी है। लेकिन असरगंज में महज 24 घंटे के अंदर ही सभी पॉजिटिव पाए गए मरीजों की दोबारा जांच कर उन्हें निगेटिव घोषित कर दिया गया। इससे छात्रों सहित अभिभावकों ने राहत की सांस तो ली है लेकिन अगर इन 28 में से कोई एक भी वास्तव में पॉजिटिव मिला तो इससे कम्युनिटी स्प्रेड की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है। डॉ वंदना ने बताया कि विद्यालय में उपस्थित शिक्षकों ने भी किट की रिपोर्ट देखी है। गुरुवार को विद्यालय के कुल 75 लोगों की जांच हुई तो आखिर सिर्फ 28 में ही मानवीय भूल कैसे हो सकती है। उन्होंने यह भी बताया कि जब अचानक बड़ी संख्या में मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिलने लगी तो मैंने अपने साथ मौजूद एक फार्मासिस्ट पर एक टेस्ट ट्रायल भी लिया। जिसमें उसका रिपोर्ट निगेटिव मिला।

असमंसज में छात्र, शिक्षक और अभिभावक, कार्रवाई की मांग
इधर, ग्रामीण भी असमंजस में हैं कि क्या किया जाए। हालांकि जांच करने पहुंचे स्वास्थ्य कर्मियों को ग्रामीणों द्वारा भी खरी-खोटी सुनना पड़ा। ग्रामीणों ने इतनी बड़ी लापरवाही बरतने वाले स्वास्थ्य कर्मियों पर कार्रवाई करने की मांग की है। शुक्रवार को जब प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. ललन कुमार की देखरेख में विद्यालय के छात्र छात्राओं व शिक्षकों का आरटीपीसीआर की खातिर सैंपल लिया गया तो पॉजिटिव मिले छात्रों के अभिभावक आक्रोशित हो गए एवं री-टेस्ट के लिए जाने से इंकार कर दिया। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं विद्यालय के प्रधानाध्यापक संतोष कुमार द्वारा काफी समझाने बुझाने के बाद भी 16 बच्चे, एक शिक्षक एवं आदेशपाल का आरटीपीसीआर के लिए सैंपल लिया जा सका। अब पटना से रिपोर्ट आने के बाद ही मामले की सच्चाई सामने आएगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser