परेशानी:गुआबाड़ी धार पर पुल के अभाव में लोगों को यात्रा करने में हो रही परेशानी

बहादुरगंज4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुल विहीन गुआबाड़ी नदी धार। - Dainik Bhaskar
पुल विहीन गुआबाड़ी नदी धार।
  • सड़क निर्माण को लेकर कई बार लोगों ने सांसद और विधायक से गुहार लगाई, समस्या जस की तस

एनएच 327 ई आजाद चौक से चौपाल बस्ती होकर बहादुरगंज बाजार तक जाने वाली कच्ची सड़क वर्षों से यहां के नेता तथा प्रशासनिक उपेक्षा का शिकार है। नगर पंचायत तथा पलासमनी पंचायत से गुजरने वाली इस सड़क पर एक मात्र पुल के अभाव के कारण क्षेत्र की बड़ी आबादी विकास की रोशनी से दूर है। एनएच 327ई आजाद चौक से बहादुरगंज बाजार के बीच इस सड़क पर गुआबाड़ी मरिया नदी धार है। जिसमें एक मात्र पुल के अभाव में बरसात तो दूर सुखाड़ के मौसम में भी मोटरसाइकिल जैसे छोटे वाहनों का परिचालन नहीं हो पाता है। नदी धार में पुल सहित सड़क की मांग जनता द्वारा लगातार यहां के नेताओं से होती रही है। नदी के दोनों तरफ सड़क तो बनी है पर पुल के अभाव में सड़क का कोई औचित्य नहीं है। बावजूद चुनाव के समय तो नेतागण झूठा आश्वासन देते हैं पर चुनाव के बाद नजर तक नहीं आते। मालूम हो कि प्रखंड के दक्षिणी छोर को मुख्यालय से जोड़ने वाली सड़क के उद्धार होने से अररिया जिला, कोचाधामन प्रखंड सहित बहादुरगंज के झिलझिली, डोहर आदि पंचायत के लोगों की दूरी बहादुरगंज आने के लिये काफी कम हो जाएगी। इस क्षेत्र के लोगों को बाजार आने के लिये ट्रैफिक की समस्या से जूझते हुए जहां कई किलोमीटर दूरी तय कर एलआरपी चौक होकर जाने को मजबूर हैं। वहीं गुआबाड़ी नदी धार में पुल बन जाने से इलाके की जटिल समस्या का समाधान हो जाता। स्थानीय लोगों की माने तो बाइपास सड़क के निर्माण से क्षेत्र की जनता को काफी लाभ होगा। राहगीरों सहित स्कूली बच्चों को एलआरपी चौक की ट्रैफिक जाम से मुक्ति मिल जाएगी और अपने आप को सुरक्षित महसूस करेंगे। उधर, इस सड़क से जुड़ने वाली नगर सहित पलासमनी पंचायत के कई गांव मुख्यधारा से अछूता है जहां लोग विकास के इस दौर में भी यातायात की सुविधाओं से वंचित हैं। सड़क निर्माण को लेकर कई बार लोगों ने यहां के सांसद तथा विधायक से गुहार लगाई लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। क्षेत्र की आम लोगों ने यहां के नेता तथा प्रशासन से सड़क निर्माण की मांग की है।

खबरें और भी हैं...