आयोजन:गर्भवती महिलाओं के घर जाकर पूरी की गई गोदभराई की रस्म

बहादुरगंज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आंगनबाड़ी सेविकाओं द्वारा गोद भराई का किया गया आयोजन

राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत बाल विकास परियोजना बहादुरगंज की सेविकाओं द्वारा गोद भराई का आयोजन किया गया। प्रत्येक माह के सात तारीख को प्रखंड के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर गोदभराई की रस्म का आयोजन किया जाता है। परन्तु कोरोना संक्रमण के कारण अब ये रस्म लाभार्थियों के घर जाकर सेविका द्वारा किया जाता है। प्रभारी सीडीपीओ डॉ राकेश गुप्ता द्वारा दिये गये दिशा-निर्देश के अनुसार प्रखंड की सभी सेविकाओं द्वारा अपने अपने पोषक क्षेत्र की गर्भवती महिलाओं के घर जाकर उनके परिवारजनों की उपस्थिति में गोदभराई उत्सव का सफल आयोजन किया गया। पर्यवेक्षण के दौरान महिला पर्यवेक्षिका राहत जहां ने बताया कि ग्रामीण महिलाओं में पोषण के महत्व, प्रसव पूर्व देखभाल, टीकाकरण, एनीमिया से बचाव, खान-पान के महत्व व साफ-सफ़ाई आदि के महत्व की जानकारी लोगों तक सेविकाओं द्वारा पहुंचाने का कार्य प्रतिदिन किया जाता है। साथ ही परिवार के सदस्यों को बताया जाता है कि गर्भवती महिला की देखभाल परिवार के सभी सदस्य द्वारा किया जाए। गोद भराई के सफल आयोजन हेतु प्रखंड की महिला पर्यवेक्षिका राहत जहां, वाणी झा, मधु झा, नायला तबस्सुम व अन्य पर्यवेक्षिका अपने-अपने क्षेत्रों में पर्यवेक्षण करती दिखी।

टेढ़ागाछ में भी गोदभराई उत्सव आयोजित
टेढ़ागाछ की सभी सेविकाओं द्वारा गोद भराई उत्सव का आयोजन किया गया। प्रभारी सीडीपीओ गनौर पासवान द्वारा दिये गये दिशा-निर्देश अनुसार प्रखंड की सभी सेविकाओं द्वारा अपने अपने पोषक क्षेत्र की 3-4 माह की गर्भवती महिलाओं के घर जाकर उनके परिवारजनों की उपस्थिति में हर्षोल्लास के साथ गोदभराई उत्सव का सफल आयोजन किया गया। महिला पर्यवेक्षिका स्वेता कुमारी ने बताया कि गोद भराई का मुख्य उद्देश्य मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम करना है साथ ही गर्भवती महिला की देखभाल परिवार के सभी सदस्य द्वारा किया जाए।

खबरें और भी हैं...