कवायद:फर्जी हुक्मनामा व सरकारी भूमि के फर्जी जमाबंदी पर दाखिलखारिज आवेदन करने वालों हाेगी कार्रवाई: डीएम

बांका2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
समाहरणालय सभागार मे बैठक करते डीएम व अन्य पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
समाहरणालय सभागार मे बैठक करते डीएम व अन्य पदाधिकारी।
  • समाहरणालय सभागार में डीएम की अध्यक्षता में राजस्व की हुई बैठक, दिए गए जरूरी निर्देश

समाहरणालय सभागार में शनिवार काे डीएम सुहर्ष भगत की अध्यक्षता में राजस्व की समीक्षात्मक बैठक हुई। 30 जून 2020 के पूर्व लंबित दाखिल-खारिज मामले पर चार अंचलाधिकारियों पर आरटीपीएस के तहत जुर्माना लगाया गया। जिसमें रजाैन को 57,500, कटोरिया को 18000, फुल्लीडुमर को 17000, अमरपुर को 7000 रुपए का जुर्माना लगाया गया है। जमाबंदी अद्यतिकरण कार्य पर डीएम ने सीओ एवं कर्मचारियों को शक्त निर्देश दिया गया कि प्रतिदिन 100 जमाबंदी का अद्यतिकरण कार्य करेंगे एवं कटोरिया, बौंसी एवं फुल्लीडुमर को प्रतिदिन 200 जमाबंदी अपडेशन करना सुनिश्चित करेंगे। फर्जी हुक्मनामा एवं सरकारी भूमि के फर्जी जमाबंदी के आधार पर दाखिल-खारिज आवेदन करने वालों पर शक्त कार्रवाई करने का डीएम ने निर्देश दिया। खासकर चांदन एवं कटोरिया अंचलाधिकारी को 01 सप्ताह के अंदर इस तरह के फर्जी आवेदन करने वालों को चिहिन्त कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। निबंधन कार्यालय से प्राप्त सूओमोटो दाखिल-खारिज के आवेदनों का निष्पादन सभी अंचलाधिकारी ससमय करेंगे और इसका व्यापक प्रचार-प्रसार करायेंगे। लगान वसूली काे लेकर डीएम ने कटोरिया, धोरैया, अमरपुर में दो प्रतिशत रहने पर तीनों सीओ काे फटकार लगाई। सभी कर्मचारी का हल्कावार रोस्टर बनाकर किस हल्का में कर्मचारी किस दिन उपस्थित रहेंगे। यह अंचलाधिकारी सुनिश्चित करेंगे। सभी अंचलाधिकारी मौजावार समीक्षा कर सूची उपलब्ध करायेंगे कि किस मौजा का नक्शा अंचल में उपलब्ध नहीं है। इसकी सूची उपलब्ध होने पर बांका अंचल नक्शा उपलब्ध करा देंगे। साथ ही आम आदमी को निर्धारित 150 रूपए की दर पर नक्शा उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे।

खबरें और भी हैं...