पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बांका नगर परिषद:डेडलाइन खत्म; नहीं मिला मुख्य पार्षद का जवाब, 5 को अविश्वास प्रस्ताव की बैठक

बांकाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 21 वार्ड पार्षदों ने 21 को दिया था अविश्वास का आवेदन
  • कार्यपालक पदाधिकारी ने नियमानुसार दिया था सात दिनों का समय
  • विपक्षी पार्षदों ने बैठक में 5 की तारीख की तय

बांका नगर परिषद के मुख्य पार्षद रौनक सिंह के खिलाफ 21 सितंबर को लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के सात दिनों की डेडलाइन समाप्त हो चुकी है। अब विपक्षी वार्ड पार्षद आपसी एकजुटता से जो निर्णय लेंगे, उसके अनुसार आगे की कार्यवाही की जाएगी। गौरतलब हो कि मुख्य पार्षद रौनक सिंह के विरूद्ध 21 वार्ड पार्षदों ने संयुक्त रूप से अविश्वास प्रस्ताव का आवेदन बीते 21 सितंबर को कार्यपालक पदाधिकारी को दिया था। जिसके बाद कार्यपालक पदाधिकारी ने पत्र की प्रतिलिपि मुख्य पार्षद को ईमेल और डाक द्वारा भेजी थी और नियमानुसार सात दिन के अंदर जबाव मांगा था। रौनक के जबाव देने की सात दिनों की समयसीमाअब खत्म हो गई है। लेकिन उनका कोई जबाव नहीं मिला। दूसरी ओर रविवार को 21 वार्ड पार्षदों ने संयुक्त रूप से एक आवेदन पर हस्ताक्षर किया, जो सोमवार को नगर परिषद के सभापति को सुपूर्द किया जाएगा। उपसभापति संतोष सिंह ने बताया कि 21 वार्ड आयुक्तों ने अविश्वास प्रस्ताव की बैठक को लेकर 5 अक्टूबर की तिथि निर्धारित की है।

गलत शपथ पत्र मामले में प्राथमिकी होने के बाद से गायब हैं मुख्य पार्षद

ज्ञात हो कि बांका नगर परिषद के मुख्य पार्षद रौनक सिंह के विरूद्ध 21 सितम्बर को 26 वार्ड पार्षदों में से 21 वार्ड पाषदों ने अविश्वास प्रस्ताव लगाते हुए संयुक्त हस्ताक्षरित एक आवेदन बांका नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी सुमित्रा नंदन को सुपुर्द किया था। जिसके बाद कार्यपालक पदाधिकारी ने वार्ड पार्षदों के संयुक्त हस्ताक्षरित आवेदन की प्रति मुख्य पार्षद को ईमेल और डाक के द्वारा भेज दी थी। दिये गये आवेदन में वार्ड पार्षदों ने आरोप लगाया है कि नगर परिषद बांका के मुख्य पार्षद के रूप में निर्वाचित रौनक सिंह द्वारा अपने व्यक्तिगत हितों के कारण अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों के निर्वहन में की गयी अनियमितता एवं कोविड 19 जैसे भयंकर महामारी के समय जनता की उपेक्षा कर लगातार फरवरी 2020 से बांका नगर परिषद से बाहर प्रवास कर रहे हैं।

मुख्य पार्षद पर विपक्षियों का आरोप- जनता को जब थी उनकी जरूरत, तब गायब थे रौनक
इस महामारी में जनता को उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी लेकिन इनके कार्यकलाप से स्पष्ट प्रतीत होता है कि ये नगर परिषद बांका के प्रति अपने कर्तव्य और दायित्व का निर्वहन करने में सक्षम नहीं हैं। इतना ही नहीं इनके ऊपर चल रहे आपराधिक मामला बांका थाना कांड संख्या 235/2020 दिनांक 21.3.2020 के कारण बांका मुख्यालय से फरार होकर बांका नगर परिषद की इस वर्ष आहुत 18 मई, 4 जून और 31 अगस्त की लगातार तीन सामान्य बैठक में अनुपस्थित रहे हैं। इसके अतिरिक्त नगर परिषद सशक्त स्थायी समिति की कार्यवाही को वार्ड पार्षदों के बीच नियमित रूप से वितरित नहीं करना, नगर परिषद की मासिक बोर्ड की बैठक में अपनी इच्छा अनुसार बैठक के बाद प्रस्तावों को समावेश करना, बैठक की कार्यवाही को बैठक के दौरान कार्यवाही पंजी में अंकित नहीं करना, नगर परिषद की सशक्त स्थायी समिति की बैठक को नियमित रूप से नहीं बुलाया जाना, नगर परिषद की सामान्य मासिक बैठक समय पर नहीं बुलाया जाना, नगर परिषद की सामान्य बैठक में नियमित रूप से भाग नहीं लेना, नगर परिषद के विकास कार्यों में रूची नहीं लेने के कारण ये सभी वार्ड पार्षद क्षुब्ध होकर मुख्य पार्षद के विरूद्ध अविश्वास व्यक्त करते हैं।

विपक्षी आयुक्तों के निर्णय पर आगे की कार्यवाही
रविवार को सात दिन का डेड लाइन खत्म हो रहा है। रात तक इंजतार किया जाएगा। सोमवार को विपक्षी वार्ड आयुक्तों द्वारा जो निर्णय लिया जाएगा, उसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी
– सुमित्रा नंदन, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, बांका।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें