पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रशिक्षण:लेमनग्रास की खेती से एक लाख तक की होती आमदनी

बेलहर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण आत्मा बांका ने तेलियाकुमरी पंचायत के सुराही गांव में लेमनग्रास की खेती कराने के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षक कृषि समन्वयक सुधाकर प्रसाद सिंह, बीटीएम शिव कुमार, एटीएम कुंदन कुमार, हिमांशु कुमार, किसान सलाहकार राजीव कुमार, गिरीश कुमार भारती, संदीप कुमार ने लेमनग्रास की रोपाई से लेकर तेल निकालने तक की पूरी प्रक्रिया की जानकारी दी।

कृषि समन्वयक सुधाकर प्रसाद सिंह ने कहा की लेमनग्रास की खेती पर उद्यान विभाग की ओर से 800 रुपये प्रति एकड़ की दर से अनुदान राशि दी जाती है। तेल निकालने की मशीन की खरीदारी पर सरकार 50 प्रतिशत अनुदान देती है। प्रशिक्षण में लेमनग्रास की पत्ती से चाय भी पिलाया गया। जिसे किसानों ने काफी प्रशंसा की। एटीएम कुंदन कुमार ने किसानों को बताया कि प्रति वर्ष साठ हजार से एक लाख बीस हजार तक की आमदनी होती है।

प्रशिक्षण से प्रेरित होकर सीताराम रजक ने 10 एकड़ एवं शंभू सोरेन ने 2 एकड़ में लेमनग्रास की खेती करने का निर्णय लिया। मौके पर प्रगतिशील किसान दिवाकर कुमार, प्रवीण कुमार, रंजीत प्रसाद सिंह, खुशबू कुमारी, पिंकी कुमारी, रश्मि देवी, कुमारी उर्मिला हेंब्रम, अंजनी देवी थे।

खबरें और भी हैं...