भ्रष्टाचार:सौ-दो सौ रुपए लेकर अपने चहेते किसानों को दे रहे खाद

बेलहर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बेहलर के डुमरिया गांव की महिलाओं ने किसान सलाहकार पर लगाए गंभीर आरोप, जांच की मांग

प्रखंड के डुमरिया गांव की दर्जनों महिलाएं बुधवार को यूरिया खाद के लिए प्रखंड से लेकर दुकान दर दुकान भटक रहे है, लेकिन उन्हें यूरिया खाद नहीं मिल पाया। जिससे महिलाओं में काफी आक्रोश था। महिला पूनम देवी, रेणु देवी,अनसुईया देवी, राधा देवी, अर्चना देवी, भुलेना देवी, अनीता देवी, रानी देवी, मंजू देवी, नुमा देवी, रंजू देवी, रानी देवी अन्य महिलाओं ने कहा कि वे ब्लॉक एवं अन्य सभी दुकानों में कई दिनों से भटक रहे हैं फिर भी उन्हें यूरिया खाद नहीं मिल पा रहा है।

वहीं पंचायत के किसान सलाहकार रंजन कुमार अपने चहेते किसानों से 100 से लेकर 200 रुपए लेकर यूरिया खाद दे रहे हैं। जबकि उन लोगों ने पूर्व में दुकानों एवं किसान सलाहकार के पास अपना आधार कार्ड जमा कर किया था। लेकिन कृषि सलाहकार के द्वारा चुन-चुन कर एवं रुपए लेकर खाद वितरण कराया। आज कल आने की बात कह कर ब्लॉक का चक्कर लगवा रहे हैं।

महिलाओं के द्वारा किसान सलाहकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा गया कि उनके द्वारा अन्य कृषि योजनाओं में भी मनमाने रवैया अपनाए जाते हैं। महिलाओं ने पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि प्रणय कुमार से भी इस संबंध में शिकायत किया। लेकिन उन्होंने भी इस संबंध में कोई ध्यान नहीं दिया। मुखिया प्रतिनिधि प्रणय ने भी कहा कि कृषि सलाहकार के द्वारा यूरिया खाद वितरण करने में अनियमितता बरते जाने की शिकायत किसानों के द्वारा मिली है। जिसकी वे वरीय पदाधिकारी से उनकी शिकायत करेंगे।

नियमानुसार बांटा खाद: समन्वयक
वहीं कृषि समन्वयक सुधाकर प्रसाद सिंह ने कहा कि प्रखंड में प्रति पंचायत 30 बोरा यूरिया खाद उपलब्ध कराया गया था। जिसे नियमानुसार क्रम से वितरण कराया गया है। कम आवंटन होने एवं खाद लेने वाले किसानों की संख्या अधिक होने के कारण अन्य किसानों को यूरिया खाद उपलब्ध नहीं हो पाया। पुनः यूरिया आने पर बचे हुए अन्य किसानों को भी खाद उपलब्ध करा दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...