पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Banka
  • It Rained Again For An Hour, Damage To The Crops Of Cucumber, Cucumber, Cabbage Brinjal Due To Accumulation Of Water In The Fields, Demand For Economic Package From The State Government

यास तूफान के कारण सब्जी उपजाने वाले किसानों को नुकसान:एक घंटे फिर हुई बारिश, खेतों में पानी जमा होने से खीरा, ककड़ी, बंधागोभी बैंगन की फसल को पहुंचा नुकसान, राज्य सरकार से आर्थिक पैकेज की मांग

बांका/ धोरैया13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खेत में लगे पानी से खराब हो रही बैंगन की फसल। - Dainik Bhaskar
खेत में लगे पानी से खराब हो रही बैंगन की फसल।
  • माैसम विभाग ने 2 जून तक जिले में बारिश हाेने की जताई आशंका, हवा की रफ्तार 10 से 15 किमी

रविवार काे भी जिले में यास तूफान का असर देखने काे मिला, शाम 5:30 बजे से एक घंटे तक बारिश हुई। चार-पांच दिनों से बारिश से सब्जी उत्पादकों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है। बारिश होने से खासकर खीरा, ककड़ी, बंधागोभी समाप्त होने के कगार पर पहुंच गया है। ज्ञात हाे कि बांका शहर के करहरिया, गरनियां, सैजपुर, दुधारी, डांड़ा, चुटिया, अमरपुर, मेहरपुर, देवदा सहित धोरैया के गचिया, मथुरापुर, बन्दरचूहा, बिरनियां सहित काफी संख्या में ग्रामीण क्षेत्रों में पर्याप्त मात्रा में सब्जी उगाई जाती है। इससे क्षेत्र के गांव और हाट बाजार में रहने वाले लोगों को गर्मी के मौसम में हरी सब्जी आसानी से उपलब्ध हो जाती है। धान कटने के बाद लगाए जाने वाले सब्जी मार्च से फल देना शुरू कर देता है, लेकिन बाजार बंद होने के कारण सब्जी उत्पादकों को सब्जी की सही कीमत यहां नहीं मिल पा रही है। वहीं बेमौसम हुई बारिश से सब्जी उत्पादकों को दोहरी मार पड़ी है। किसानों ने बताया खेतों में पानी जमा होने पर हरी सब्जी के पौधों को नुकसान पहुंचा है। कृषि विज्ञान केन्द्र के मौसम वैज्ञानिक सहुबर साहु ने बताया कि मूंग के फसल को कम पानी चाहिए। ऐसे में लगातार बारिश से इस साल मूंग की फसल नहीं के बराबर होने की संभावना है।

डीएओ का विरोधी बयान, कोई नकुसान नहीं
न सब्जी और न माैसमी फल काे नुकसान हुआ है। यहां के खेताें से पानी निकल जाता है और अाम के फसल बड़े हाे चुके है, जिस कारण से नुकसान नहीं है। साइक्लाेन का असर खत्म हुआ। बारिश नहीं हाेगी।
विष्णुदेव कुमार रंजन, जिला कृषि पदाधिकारी, बांका

खेत में पानी जमने से गलने लगे पौधे, कीड़ों का भी प्रकोप बढ़ा
जिले में लगातार हुए बारिश के बाद जिन खेत में पानी जमा हाे जाता है। उस खेत में लगे बैंगन की फसल पूरी तरह से गल रहे हैं। किसान मेघू मंडल ने बताया कि पानी लगने के कारण बैगन के पौधे सूख जाएंगे। बारिश की वजह से टमाटर, भिंडी, बोड़ा, नेनुआ, झिंगी, बैगन आदि की खेती लगभग चौपट हो गई है। बारिश से सब्जी के साथ पौधों में भी कीड़ा लग जाएंगे। खेतों में पानी जम जाने से पौधे गलने लगेंगे। बारिश के कारण किसानों के उम्मीद पर पानी फिर गया है।

2 जून तक हल्की बारिश हाेने का पूर्वानुमान
माैसम वैज्ञानिक जुबली साहु ने कहा 2 जून तक जिले में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना बनी हुई है। हालांकि चक्रवात यास तूफान का असर जिले में समाप्त हाे गया है। लेकिन जिले के कुछ हिस्सांे में हल्की से मध्यम बारिश हाेगी। वहीं तापमान में अब बढ़ाेत्तरी हाेगी। इस दाैरान हवा की गति 10 से 15 किलाेमीटर रफ्तार से चलेगी।

राज्य सरकार आर्थिक पैकेज की घोषणा करे
चेतना फाउंडेशन के अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि बारिश के कारण सब्जी की खेती को क्षति हुई है। लागत भी नहीं निकला। राज्य सरकार किसानों के लिए विशेष पैकेज जारी करें। कृषि विज्ञान केंद्र के कृषि वैज्ञानिक रघुवर साहु ने कहा कि मूंग की फसल अब नहीं हो पाएगी, किसान धान बुआई की तैयारी कर रहे।

खबरें और भी हैं...