किसानों की चिंता / टिड्डी के हमले से बचाव काे माॅकड्रिल कर जाना उपाय

टिड्डी को मारने का पूर्वाभ्यास करात डीएओ व अन्य पदाधिकारी। टिड्डी को मारने का पूर्वाभ्यास करात डीएओ व अन्य पदाधिकारी।
X
टिड्डी को मारने का पूर्वाभ्यास करात डीएओ व अन्य पदाधिकारी।टिड्डी को मारने का पूर्वाभ्यास करात डीएओ व अन्य पदाधिकारी।

  • टिड्डी दल के आने की सूचना देने के लिए जिला स्तर पर बनाया गया कंट्रोल रूम

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

बांका. कुछ महीनों से विभिन्न राज्यों के साथ बिहार में भी रेगिस्तान टिड्डी दल का संभवतः प्रकोप देखा गया है। इसके प्रकोप से फसलों अाैर पेड़ों काे काफी नुकसान हो रहा है। बिहार के कैमूर, बेतिया, पटना, जहानाबाद जैसे जिलों तक टिड्डी दल पहुंचा है। 
यदि यह टिड्डी दल और पूरब की ओर बढ़ा तो बांका में भी इसके प्रवेश की प्रबल संभावना है। अपने मार्ग में आने वाले हरे पेड़-पौधे, साग-सब्जियों अाैर फसलों को खाकर यह दल क्षति पहुंचाता है। टिड्डी दलों के आक्रमण और प्रकोप की सम्भावित स्थिति को देखते हुए कृषि विभाग द्वारा इसके नियंत्रण हेतु एडवाइजरी जारी की गई है। इनके प्रभावी नियंत्रण के लिए समुचित तैयारी की जा रही है। जिले में इसके आगमन की सूचना ससमय मिले, इसके लिए सभी प्रखंड और पंचायत स्तरीय कर्मियों, प्रखंड कृषि पदाधिकारी, कृषि समन्वयकों, किसान सलाहकारों को अलर्ट किया गया है। किसानों को भी इसके लिये जागरूक किया जा रहा है। 

टिडि्डयों को ढोल-नगाड़े से भगाया जाएगा
टिड् के आगमन पर ढोल-नगाड़ा, डीजे, लाउडस्पीकर बजाकर इसे भगाया जाएगा। वहीं टिड्डी दल को मारने के लिए दवा का छिड़काव किया जाएगा। जिला स्तर पर इसके नियंत्रण के लिए एक टिड्डी नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। इसके प्रभारी पदाधिकारी, सहायक निदेशक, पौधा संरक्षण, बांका बनाए गए हैं। जिनका मोबाइल नंबर -9304278443 है। कोई भी व्यक्ति जिले में टिड्डी दल के आगमन की सूचना इस नम्बर पर दे सकते हैं। जिले में टिड्ड दल के आगमन पर ढोल-नगाड़ा, लाउडस्पीकर बजाकर उसे भगाया जाएगा। जिला स्तर पर फायर बिग्रेड की गाड़ी का उपयोग करते हुए इस पर रसायनिक दवाओं का छिड़काव किया जाएगा। किसानों को जागरूक करने और टिड्डी दल के वास्तविक आक्रमण के दौरान की जाने वाली कार्रवाइयों के पूर्वाभ्यास के लिए एक माॅकड्रिल का आयोजन नोनिहारी गांव में किया गया। इसमें बड़ी संख्या किसानों के साथ कृषि विभाग के पदाधिकारी अाैर कर्मियों के अलावा अग्निशमन दल के कर्मियों ने भाग लिया। लोगों ने थाली और ढोल बजाने के साथ पेड़ों पर बैठे टिड्डी दल के मारने काे लेकर फायर बिग्रेड की गाड़ियों का उपयोग किया गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना