बिहार में निर्भया जैसी दरिंदगी:8 साल की बच्ची को उठाकर ले गए, गैंगरेप किया, आंखें फोड़ी; हत्या के बाद बिना कपड़ों के नाले में दफना दिया

बांका8 महीने पहले

बिहार में एक बच्ची के साथ निर्भया जैसी दरिंदगी की गई है। 8 साल की बच्ची अपने भाई और दोस्तों के साथ होली खेल रही थी। तभी कुछ लोग उसे उठाकर ले गए। उसके साथ गैंगरेप किया, आंखें फोड़ी, बिना कपड़ों के उसे एक नाले में बालू के नीचे दबा दिया। पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। बाकी की तलाश जारी है। हालांकि पुलिस ने कहा है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही रेप को लेकर कुछ कहा जा सकता है।

मामला बांका के चांदन थाना इलाके का है। पीड़िता के पिता बांका से बाहर काम करते हैं। वो होली में भी घर नहीं आ पाए थे। शनिवार की दोपहर में ही बच्ची गायब हो गई थी। पीड़िता के 5 साल के छोटे भाई ने बताया कि दीदी को कुछ लोग जबरदस्ती लाल रिक्शा से ले गए। उन लोगों ने मुझे छोड़ दिया। घर के लोगों ने तलाश शुरू की।

नाले के पास मौजूद लोगों की भीड़।
नाले के पास मौजूद लोगों की भीड़।

नाले से बालू के नीचे मिली लाश
बच्ची की तलाश करते हुए जब परिवार वाले शनिवार की रात करीब 11:30 बजे चांदन रेलवे स्टेशन के पास पहुंचे, तो वहां नाले के ऊपर 2-4 कुत्ते घूम रहे थे। शक होने पर नाले में घुसकर देखा तो बालू के नीचे लाश दिखाई दी। बालू से लाश को ढंकने की कोशिश भी की गई थी। लाश बाहर निकाली तो परिजन पहचान गए। पीड़िता की आंखें भी फोड़ दी गई थी। शव पर कपड़े नहीं थे। लाश देखते ही परिजन चीखने लगे। परिवार के मुताबिक लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ है। वारदात की जानकारी मिलते ही चांदन पुलिस दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंची। लाश को अपने कब्जे में ले लिया।

पुलिस ने 3 आरोपियों को किया गिरफ्तार
परिजनों ने 3 लोगों पर शक हाजिर किया था। इसके आधार पर पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। तीनों से पुलिस पूछताछ कर रही है। सभी लड़की के गांव के ही रहने वाले हैं। रिक्शे के मालिक अभी फरार है। उसकी खोजबीन चल रही है। फिलहाल बेलहर एसडीपीओ प्रेमचंद्र सिंह के नेतृत्व में जांच चल रही है। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए बांका भेज दिया गया है।