कोरोना का कहर:कोरोना की तीसरी लहर में मौत का खुला खाता, पटना में वृद्धा ने गंवाई जान

बांका/ रजौन22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सदर अस्पताल में कोरोना जांच करते स्वास्थ्य कर्मी। - Dainik Bhaskar
सदर अस्पताल में कोरोना जांच करते स्वास्थ्य कर्मी।

कोरोना की तीसरी लहर में जिले में मौत का खाता खुल गया है। बांका सदर थाना क्षेत्र की 85 वर्षीय सीता देवी की पटना एम्स में इलाज के दौरान मौत हो गई। तबीयत खराब होने पर सीता को पहले इलाज के लिए बांका में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद उन्हें भागलपुर रेफर किया गया, वहां से उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। किडनी में भी खराबी निकला। फिर पटना में एम्स में इलाज चला, जहां 5 जनवरी की शाम 6 बजे उनकी मौत हो गई। हालांकि उनकी रिपोर्ट इलाज के दौरान निगेटिव हो गई थी। दूसरी ओर जिले में इस समय कोरोना के 15 एक्टिव केस है।

पटना एम्स ने जारी की बांका में पहली मौत की रिपोर्ट... इस समय जिले में कोरोना के 15 एक्टिव मरीज, रहें सतर्क

वहीं, मृतका के परिजनों ने बताया कि वे लोग मूल रूप से बांका थाना क्षेत्र के निवासी हैं। कोरोना की तीसरी लहर में यह कोरोना से मौत का पहला मामला। जिसकी शुरुआत एक वृद्ध महिला से ही हुई। फिलहाल जिले में कोरोना की जांच में तेजी लाई जा रही है। अगर संक्रमित लोगों की बात करें तो नए साल में एक जनवरी से लेकर अबतक कुल 15 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। हालांकि ये बात दूसरी है कि जांच में दो बातें सामने आ रही है। एंटीजन टेस्ट में रिपोर्ट पॉजिटिव आती और आरटीपीसीआर की जांच होती रिपोर्ट निगेटिव आ जाती है। अभी ऐसे कई हैं जिनकी एंटीजन टेस्ट हुआ पर आरटीपीसीआर जांच बाकी है।

रोजाना करीब 1500 सैंपल की हो रही जांच
कोरोना के मरीजों में बेतहाशा वृद्धि हुई है, इसको देखते हुए जिले के स्वास्थ्य केंद्रों में कोरोना जांच की संख्या में इजाफा कर दिया गया है। हर स्वास्थ्य केन्द्र से आरटीपीसीआर के सैंपल जिला सदर अस्पताल भेजा जा रहा है। एसीएमओ डॉ. अभय कुमार चौधरी ने बताया कि जिले में कोरोना के मरीज मिल रहे हैं, ऐसे में आरटीपीसीआर मशीन से रोजाना करीब 1500 सैंपल की जांच की जा रही है।

रजौन सीएससी के कर्मी हुए संक्रमित
दो दिन पूर्व जहां रजौन के स्वास्थ्य प्रबंधक कोरोना पॉजिटिव हुए थे, वहीं गुरुवार को भी रजौन सीएससी के दो स्वास्थ्य कर्मी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। स्वास्थ्य कर्मियों के संक्रमित होने के साथ ही अन्य कर्मियों में भय का माहौल है। एंबुलेंस ड्राइवर के साथ अन्य स्वास्थ्य कर्मी स्वास्थ्य के प्रति सचेत हो गए है। कोरोना के दूसरी लहर में कई चिकित्सक व टेक्नीशियन सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मी कोरोना पॉजिटिव हुए थे।

1 जनवरी से लेकर अब तक जिले के कौन से प्रखंड में कितने मिले कोरोना संक्रमित
धोरैया 1, बांका 1, रजौन 6, बेलहर 3, बौंसी 3, चांदन 1 जिसमें आरटीपीसीआर में 8 लोग पॉजिटिव पकड़े जा चुके है, जबकि 7 लोग एंटीजन जांच में संक्रमित मिले हैं, जिनका सैंपल आरटीपीसीआर के लिए भेजा गया है। रोज मिल रहे नए मरीज से सतर्क रहने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...