पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नए साल की सौगात:58 साल के बाद पहली बार चांदन डैम से निकलेगा गाद, 36 हजार हेक्टेयर में हर मौसम उपजेगी फसल

बांका4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक बार फिर से 1 लाख 10 हजार क्यूसेक होगी डैम की जलग्रहण क्षमता
  • मार्च से गाद निकालने का कार्य होगा प्रारंभ, खनन विभाग करेगा टेंडर जारी

चांदन डैम के निर्माण के 58 साल बाद पहली बार इससे गाद निकाली जाएगी। मार्च माह से डैम की सफाई की प्रक्रिया शुरू होने की उम्मीद है। इसके लिए खनन विभाग निविदा का प्रकाशन करेगा। वहीं सिंचाई विभाग ने डैम से निकलने वाले गाद को स्टोर करने के लिए 64 हैक्टेयर जमीन चिह्नित भी कर ली है। विशेषज्ञों की माने तो डैम की सफाई के बाद एक बार फिर से इसके जलग्रहण की क्षमता बढ़ेगी और इसमें 1 लाख 10 हजार क्यूसेक पानी का भंडारण हो सकेगा। जलग्रहण क्षमता बढ़ने से 36 हजार हेक्टेयर में किसान हर मौसम फसल उपजा सकेंगे। बारिश में पानी रि-स्टोर करने की योजना
12 दिसंबर को सीएम नीतीश कुमार पुरातात्विक अवशेषों का निरीक्षण करने भदरिया गांव पहुंचे थे। इस दौरान भी उन्होंने अधिकारियों को गाद की सफाई का निर्देश दिया था। इसके बाद से लगातार खनन विभाग व सिंचाई विभाग द्वारा चांदन डैम से गाद निकाले जाने की प्रक्रिया को रुप देने में लगे हुआ है। कयास लगाया जा रहा है कि जुलाई में बारिश से पहले गाद निकालने का काम पूर कर लिया जाएगा ताकि इसमें बरसात का पानी रि-स्टोर किया जा सके।
चांदन डैम से गाद की सफाई हो जाने के बाद बांका व भागलपुर जिले के 36 हजार हेक्टेयर भूमि को सीधे पानी मिलने लगेगा, जिससे इस इलाके के किसानों को समृद्ध होने में चांदन डैम सहायक बनेगा। खरीफ फसल को छोड़ इस इलाके के किसान अभी खेती नहीं कर पाते है। चांदन डैम से गाद की सफाई के बार हर मौसम किसानों को पर्याप्त पानी मिलेगा, जिससे किसान हर मौसम में फसल उगा सकते है।

अभी डैम में 45 हजार क्यूसेक स्टोरेज की क्षमता
चांदन डैम में 58 सालाें में गाद पूरी तरह से भर गया है, जिससे डैम की क्षमता महज अभी 45 हजार एकड़ फीट में रह गई है। इससे बारिश के दिनों में जहां पानी स्टाेर डैम में नहीं हाेकर स्पिल कर जाया कर रहा है। वहीं रवि फसल की सिंचाई के समय डैम सुखा पड़ा रह जाया करता है, जिससे किसानों के खेतों में पानी तक नहीं मिल पाता है। इससे किसान महज एक फसल पर आश्रित होकर रह गए है। इससे उन्हें नुकसान तो हो ही रहा है। वहीं समृद्धि में बाधक बन रह गया है। डैम से गाद निकलते ही यहां के किसानों के समृद्धि का मार्ग भी खुल जाएगा।

शुरू हो चुकी है कवायद

चांदन जलाशय का गाद निकालने को लेकर कवायद शुरू हो चुकी है। खनन विभाग की ओर से गाद निकालने का टेंडर जारी किया जाएगा। सिंचाई विभाग 64 हैक्टेयर जमीन डंपिंग के लिए उपलब्ध कराएगी। अगले वर्ष मार्च में काम शुरू हो सकता है।
-विनोद कुमार, कार्यपालक अभियंता, सिंचाई प्रमंडल बांका।

खनन विभाग देख रहा कार्य

डैम से गाद निकाले जाने की प्रक्रिया के सारे कार्य खनन विभाग के मुख्यालय से ही देखा जा रहा है। जिला स्तर पर किसी प्रकार का आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। जल्द टेंडर होने की सूचना मिल रही है। अभी फाइनल कुछ जानकारी प्राप्त नहीं हुआ है। -महेश्वर पासवान, खनन पदाधिकारी, बांका।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें