वट सावित्री / वट वृक्ष पर सुहागिनों ने रक्षासूत्र बांध कर की पति के दीर्घायु की कामना

Suhagins tied a protective coat on the tree and wished for the husband's longevity
X
Suhagins tied a protective coat on the tree and wished for the husband's longevity

  • शहर के तारा मंदिर परिसर में पुजारी ने महिलाओं को सुनाई
  • कथा पूजा करने के दौरान महिलाओं ने नहीं रखा सोशल डिस्टेंस

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

बांका. शहर की सभी सुहागिन महिलाओं ने वट सावित्री व्रत के अवसर पर व्रत रखकर वट वृक्ष को रक्षा सूत्र बांधकर अपने-अपने पति के दीर्घायु होने की कामना की। सुहागिनों ने वट वृक्ष की पूजा-अर्चना कर बैठकर सावित्री अौर सत्यवान की कथा सुनी। गुरुवार से ही वट सावित्री पूजा को लेकर पूरे जिले भर में महिलाओं के बीच काफी उत्साह देखा गया। रविवार को जहां महिलाओं ने जमकर खरीदारी की। 

वहीं शुक्रवार सुबह नये- नये परिधान में सज संवर कर महिलाएं वट वृक्ष के नीचे पहुंची और वट वृक्ष की पूजा अर्चना कर अपने पति के दीर्घायु व सुखद जीवन की कामना की। महिलाएं गंगा जल, अक्षत, रक्षा सूत्र, चना, फूल, सिन्दूर, धूप एवं कच्चा सूत वटवृक्ष के पेड़ में पांच से सात वार लपेट कर पूजा करते हुए सुखमय जीवन की कामना की। रक्षा सूत्र लपेट कर सुहागिन महिलाएं अपने पति की रक्षा के लिए वट वृक्ष से आशीष मांगी। 

शहर के चांदन नदी तट किनारे तारा मंदिर परिसर, थाना गेट के बाहर, कचहरी परिसर, जगतपुर, विजयनगर सहित अन्य जगहों पर महिलाओं ने वट वृक्ष की पूजा की। सोशल डिस्टेंस का पालन तक नही किया गया। शहर के चांदन नदी तट स्थित तारा मंदिर परिसर में पंडित शशि भूषण मिश्रा के द्वारा महिलाओं को सत्यवान सावित्री की कथा सुनाई गयी। कथा सुनने के बाद महिलाओं ने पंडित को यथासंभव दान दक्षिणा दिया और आशीर्वाद प्राप्त की।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना