पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पहले ही दिन 3 हजार ट्रकाें के थम गए पहिए:21 सूत्री मांगाें के समर्थन में ट्रक ऑनर एसा. का अनिश्चिकालीन चक्का जाम

बांका14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अनिश्चितकालीन चक्का जाम के दौरान ट्रकों के परिचालन पर रोक लगवाते एसोसिएशन के सदस्य।
  • एसाेसिएशन के सदस्य जिले भर में भ्रमण कर ट्रकाें काे कराया बंद, जिन जगहाें पर थे ट्रक वहीं करवा दिया खड़ा
  • जिले में 50 -100 कराेड़ के काराेबार काे नुकसान हाेने की जतायी जा रही है अाशंका

अपनी 21 सूत्री मांगाें काे लेकर साेमवार से ट्रक अाॅनर एसाेसिएशन का अनिश्चितकालीन चक्का जाम शुरू हाे गया है। बांका जिले में इस चक्का जाम पर पहले ही करीब 3 हजार ट्रकाें की रफ्तार पर ब्रेक लग गया है। अनिश्चितकालीन चक्का जाम आंदाेलन काे सफल बनाने के लिए जहां रविवार रात से एसाेसिएशन के सदस्य सक्रिय हाेकर जिले भर का भ्रमण कर ट्रकाें काे रुकवा रहे थे, वहीं साेमवार काे भी यह जारी रहा और शांतिपूर्ण तरीके से एसाेसिएशन के सदस्य बांका जिले के बाॅर्डर इलाकाें में भी जाकर चल रहे ट्रकाें पर ब्रेक लगवा दिया और ट्रकाें काे वहीं पर साइड करवा कर खडा करा दिया गया। आंदाेलन काे सफल बनाने के लिए दिन रात एसाेसिएशन के सदस्य लगे रहे और जिले भर के विभिन्न बाॅर्डर इलाकाें में जाकर भी ट्रकाें काे रुकवा दिया गया, जबकि एसाेसिजशन से जुड़े ट्रक ऑनर के अलावे जिले भर के अधिकांश ट्रक ऑनर द्वारा स्वत: भी अपने ट्रकाें काे मांग के समर्थन में खड़ा कर दिया गया है। हालांकि आंदाेलन काे सफल बनाने के लिए अलग-अलग टीम बनाकर ट्रकाें पर ब्रेक लगवाने काे निकले सदस्याें ने आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति कार्य में लगे ट्रकाें काे अपने आंदाेलन से बाहर रखा और ऐसे वाहनाें काे पूरी तरह से परिचालन हाेने दिया। एसाेसिएशन का भी ऐसा ही आह्वान था कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में लगे वाहनाें के परिचालन पर राेक नहीं लगायी जाएगी, जिसका बांका एसाेसियेशन के सदस्याें द्वारा पूरा ख्याल रखा गया। आंदाेलन काे सफल बनाने में जिलाध्यक्ष दीपक कुमार, संरक्षक बांके बिहारी, सचिव संजय तिवारी, वाइस प्रेसिडेंट अमरनाथ कुमार सहित दर्जनाें सदस्य लगे हुए थे। अध्यक्ष ने कहा कि जबतक मांग पूरी नहीं हाेती है, और एसाेसिएशन द्वारा जबतक कोई आदेश नहीं दिया जाता है, तबतक आंदाेलन यथावत जारी रहेगा और ट्रकाें की रफ्तार पर ब्रेक लगा रहेगा।

ट्रकाें के चक्का जाम रहने से काराेबार पर पड़ा बुरा असर 50-100 कराेड़ के काराेबार काे नुकसान
एसाेशिएशन के सदस्याें का कहना है कि उनके अनिश्चितकालीन चक्का जाम आंदाेलन से बांका जिले में करीब 3 हजार ट्रकाें के परिचालन पर राेक लगा दी गयी है। जिससे काराेबार काे क्षति पहुंच रही है। इस आंदाेलन से बांका जिले में करीब 50 से 100 कराेड़ के काराेबार काे नुकसान हाेने की संभावना है, क्याेंकि बांका जिले में बालू उठाव के ही राेजाना 400 से 500 ट्रक आया करती है, अगर ये वाहन 12 चक्का ही ज्यादातर हाेती है ताे करीब 1 कराेड़ के काराेबार पर ब्रेक लग जाता है। जबकि सिमेंट, छर्री, छड़ के साथ-साथ अन्य प्रकार के माल काे लेकर भी बांका जिले में राेजाना हजाराें ट्रक आया करती है, जिस पर ब्रेक लग गया है। हालांकि इसमें आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के वाहनाें काे अलग रखा गया है। ऐसे में अनुमानत: 50 से 100 कराेड़ के आसपास काराेबार काे नुकसान होगा।

इन 21 सूत्री मांगाें काे लेकर किया जा रहा है आंदाेलन : ट्रक ऑनर एसो.
21 सूत्री मांगाें में संशोधित माेटर वाहन अधिनियम 2019 काे पूर्णत: वापस लेते हुए पुराने अधिनियम काे लागू किया जाए, भाेजपुर में परिवहन पदाधिकारी के भ्रष्ट क्रियाकलापाें एवं अवैध वसूली करवाने में संलिप्तता काे देख अविलंब प्राथमिकी दर्ज हो, जर्जर सड़क के बावजूद जगह-जगह टाेल टैक्स के नाम पर ट्रक वालाें से हाे रहे दाेहन पर राेक, राज्य में जगह-जगह अनावश्यक रुप से राष्ट्रीय राजमार्ग सहित अन्य मार्ग पर लगे नाे इंट्री काे अविलंब समाप्त करने, एफसीआई, एसएफसी एवं रेलवे के रैक प्वाइंट पर जबरदस्ती जान बुझकर ओवरलोड़ माल लादने की कार्रवाई पर रोक, विभिन्न पुलों पर रोक एवं वर्तमान में कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन से परेशान है, ऐसे में 1 मार्च से 31 मार्च 2021 तक रोड टैक्स को अविलंब माफ किया जाए सहित 21 मांगे शामिल है।

जनता के उपर पड़ेगा अत्यधिक बोझ
ट्रक एसोसिएशन के हड़ताल के कारण आने वाले दिन में खाद्य सामग्री की भारी किल्लत हो जाएगी। चीनी, तेल, आटा मैदा के दाम में पहले दिन ही इजाफा हो गया। जबकि फल और सब्जी भी ट्रक एसोसिएशन के हड़ताल के कारण महंगा हो जाएगा, जिसका अधिभार आम जनता को ही सहना पडेगा
संजय तिवारी, सचिव, ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन, बांका

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें