पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बचाव:कैदियों का वैक्सीनेशन शुरू, पहले दिन 45 को लगा टीका

बांकाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला बंदी को टीका लगाती नर्स व मौजूद अन्य। - Dainik Bhaskar
महिला बंदी को टीका लगाती नर्स व मौजूद अन्य।
  • टीकाकरण को आधार कार्ड अनिवार्य, परिजन वाट्सएप नंबर 9471009845 पर भेज सकते हैं फोटो

बांका मंडल कारा के बंदियों को गुरुवार से कोरोना का टीका लगाया जाना शुरू हुआ। पहले दिन 45 कैदियों को टीका लगाया गया। जिसमें 42 पुरुष व तीन महिलाएं शामिल है। अभी फिलहाल जेल के अंदर 45 वर्ष उम्र से उपर कैदियों को प्राथमिकता के साथ टीका लगाया जा रहा है। उसमें से भी बीमार व बुजुर्ग कैदियों को पहले टीका दिलाने का प्रयास है। अभी कैदियों को कोरोना टीका की पहली डोज दी गयी है। गाइडलाइन के अनुसार 28 दिन बाद दूसरी डोज दी जाएगी। टीका लेने वाले कैदियों को कोविड गाइडलाइन से संबंधित जानकारियों की पर्ची भी दी गई। टीकाकरण में मुख्य रूप से जेल अधीक्षक सुजीत कुमार राय, चिकित्सा पदाधिकारी डा. एसके सुमन, उपाधीक्षक निर्मल कुमार प्रभात, मिश्रक संदीप कुमार, परिधापक बिपेंद्र कुमार, नर्स बेबी, कक्षपाल रमेश कुमार यादव सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मी प्रमुख रुप से मौजूद थे। वहीं इसके साथ ही कोरोना से बचाव के भी आवश्यक सुझाव बंदियों के बीच दिये गये। कैदियों के टीकाकरण में आधार कार्ड आवश्यक है। वर्तमान में बांका जेल में कैदियों की संख्या 1000 के करीब है। इसमें से 350 कैदियों का आधार उपलब्ध हो गया है। जिन कैदियों का आधार नहीं है, उनके परिजन से आधार जमा करने की अपील की जा रही है। इसके लिए जेल अधीक्षक ने वाट्सएप नंबर 9471009845 जारी किया है। इस नंबर के वाट्सएप पर घर बैठे बंदी के परिजन आधार कार्ड की फोटो भेज सकते हैं।

टीके से वंचित कैदी मुलाकात से होंगे वंचित
जेल अधीक्षक सुजीत कुमार राय ने कहा कि कैदियों का टीकाकरण हो रहा है। उनकी कोशिश है कि शत प्रतिशत कैदी को टीका लग जाए। इसके लिए उन्होंने जेल का अधिकारिक मोबाइल नंबर भी जारी कर दिया है। कैदी के परिजन घर बैठे वाट्सएप के जरिए आधार की तस्वीर भेज सकते हैं। वहीं जिन कैदियों के परिजन इस आपात स्थिति को गंभीरता से नहीं लिया। वैसे बंदी टीका से वंचित रह जाएंगे। आगे संबंधित कैदी मुलाकाती से वंचित कर दिया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...