पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जागरूकता:भूमि मुआवजा लेने के लिए पड़ेगी इन कागजातों की जरूरत

बरियारपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
समाधान की जानकारी देते जिला भू -अर्जन पदाधिकारी व सीओ। - Dainik Bhaskar
समाधान की जानकारी देते जिला भू -अर्जन पदाधिकारी व सीओ।
  • बरियारपुर प्रखंड सभागार में शिविर का किया गया आयोजन, रैयतों को दी गई जानकारी

मुंगेर से मिर्जाचौकी तक फोरलेन सड़क निर्माण हेतु अर्जित जमीन के हितबद्ध रैयतों को मुआवजा भुगतान हेतु वांछित कागजात प्राप्त करने एवं रैयतों की समस्याओं के समाधान हेतु प्रखंड सभागार में शिविर का आयोजन किया गया। जिसका नेतृत्व जिला भू अर्जन पदाधिकारी राजीव कुमार ने किया। शिविर में बरियारपुर सीओ जयप्रकाश स्वर्णकार के साथ सीआई सीताराम मधुकर, कर्मचारी हरि विक्रम, प्रमोद कुमार उपस्थित थे। इस दौरान फोरलेन सड़क निर्माण हेतु अर्जित जमीन के नोटिस प्राप्त हितबद्ध रैयतों को जमीन संबंधी कौन से कागजात मुआवजा हेतु उपलब्ध कराना हैं इसकी जानकारी दी गई। भू अर्जन पदाधिकारी राजीव कुमार ने बताया गया कि मुआवजा प्राप्त करने हेतु केवाला की छाया प्रति या खतियान की छाया प्रति के साथ एलपीसी, अपडेट लगान की रसीद, आधार कार्ड, बैंक अकाउंट, शपथ पत्र और बंध पत्र के साथ अंचल से बनी पारिवारिक सूची उपलब्ध कराएं। रैयतों को दाखिल खारिज में आ रही समस्या का अविलंब समाधान किया जाएगा। रैयत किसी भी समस्या के समाधान हेतु संपर्क कर सकते हैं। सभी की समस्या का समाधान किया जाएगा। अधिकारियों ने बताया कि मुंगेर से मिर्जाचौकी 125 किलोमीटर फोरलेन सड़क का निर्माण कराया जा रहा है। मुंगेर जिला के शहीद स्मारक हेरुदियारा से खड़िया मौजा तक 25 किलोमीटर सड़क का निर्माण कराया जाएगा।

फोरलेन सड़क निर्माण के लिए 36 मौजें चिह्नित
जिला के 25 किलोमीटर में फोरलेन सड़क निर्माण हेतु जिले के 36 मौजा को चिह्नित किया गया है। जिसमें जमालपुर के 11, मुंगेर के 4, हवेली खड़गपुर के 3, जबकि सबसे अधिक बरियारपुर अंचल के 18 मौजा में पड़ने वाले जमीन चिह्नित किए गए हैं। फोरलेन सड़क निर्माण हेतु अधिकृत भूमि के लिए अधिकांश रैयतों को मुआवजा भी उपलब्ध कराया जा चुका है। बचे हुए रैयतों को मुआवजा उपलब्ध कराने हेतु प्रक्रिया जारी है।

खबरें और भी हैं...