बाढ़ का असर:एकासी गांव में घुसा पानी, पशुपालकों के सामने चारे की समस्या, सड़कों पर घुटने तक पानी

बरियारपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सड़कों पर फैले बाढ़ के पानी को पारकर घर को जाते बाढ़ से घिरे गांव के ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
सड़कों पर फैले बाढ़ के पानी को पारकर घर को जाते बाढ़ से घिरे गांव के ग्रामीण।
  • रेलवे किनारे टेंट लगाकर रह रहे हैं लालजी टोला के लोग

गंगा के जलस्तर में हो रहे लगातार वृद्धि के कारण प्रखंड के कई नए इलाकों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। बाढ़ का पानी नए इलाकों में प्रवेश कर जाने से पीड़ित परिवारों को परेशानी हो रही है। पशुओं को भी पानी में ही रहने को विवश होना पड़ रहा है। पशुपालकों को पशु के रखने एवं पशु चारा की किल्लत हो गई है। शनिवार को प्रखंड के कल्याण टोला पंचायत अंतर्गत एकाशी गांव में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया। एकासी गांव के रास्तों के साथ अब घरों के आगे तक बाढ़ का पानी भर गया है। एकाशी के ग्रामीण मनमोहन यादव, अधिक लाल यादव, रामजी सिंह, ब्रजेश कुमार, संजय यादव आदि ने बताया कि गांव में 3 फीट तक रास्तों एवं घर के आगे तक बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। जिससे जहरीले जीव जंतु का प्रकोप काफी बढ़ गया है। ऐसे जहरीले जीव जंतु घरों में भी प्रवेश कर जा रहे हैं। जिससे रात्रि में घरों में भी सोने पर लोगों को डर सता रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में बाढ़ का पानी आने से पशुपालकों को पशुओं को रखने एवं पशु चारा की भी किल्लत हो गई है। यत्र तत्र लोग पशुओं को लेकर ऊंचे स्थान पर चले तो जाते हैं लेकिन पशुओं को रखने एवं पशु चारा की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन अब तक किसी भी प्रकार की सरकारी सहायता हम ग्रामीणों को उपलब्ध नहीं की गई है। भाजपा किसान मोर्चा के प्रखंड अध्यक्ष मनमोहन कुमार ने अधिकारियों से अविलंब बाढ़ के पानी से घिरे गांवों को चिन्हित कर नाव की सुविधा उपलब्ध कराने एवं पशुओं के लिए चारा की व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...