पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

स्वास्थ्य सेवा बदहाल:बिना डॉक्टर का अस्पताल

भवानीपुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अकबरपुर एपीएचसी स्वास्थ्य सुविधाएं केवल नाम की है, सुविधाएं यहां नहीं मिलती।
  • डेपुटेशन पर डॉक्टर बिना डॉक्टर के एएनएम ने कराए 50 प्रसव और 1000 मरीजों का इलाज
  • छह बेड का अकबरपुर एपीएचसी तीन एएनएम के भरोसे
  • प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भवानीपुर में भी चिकित्सकों की कमी

डॉक्टरों की कमी के कारण से प्रखंड क्षेत्र के अकबरपुर स्थित अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की स्थिति बदहाल है। दो डॉक्टर को डेपुटेशन पर भेजने के बाद छह बेड वाले इस इस अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र की जिम्मेदारी तीन एएनएम के भरोसे है। अस्पताल में एक भी डॉक्टर नहीं होने के अभाव में ओपीडी संचालन से लेकर डिलेवरी का जिम्मा भी एएनएम के ही भरोसे हैं। आलम यह है कि एएनएम के मीटिंग में जाते ही स्वास्थ्य केंद्र पर ताला लटक जाता है। इस कारण इलाज करवाने पहुंचे ग्रामीणों को लौटना पड़ता है। पूर्णिया जिला के अंतिम छोड़ और मधेपुरा जिले के सीमावर्ती इलाके में स्थित स्वास्थ्य केंद्र इलाके के लाइफलाइन के रूप में जानी जाती है। इस अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र में अकबरपुर के अलावा इस इलाके के सोनमा, डुमरा, बसमनपुर, सोनडीहा, लाठी, बलिया के अलावा सीमावर्ती मधेपुरा जिला क्षेत्र के जौतौली और मकदमपुर से भी महीने में सैकड़ों रोगी इलाज के लिए आते हैं। अस्पताल में चल रहे ओपीडी का संचालन एएनएम सरिता के जिम्मे है। अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार सितंबर माह में ओपीडी में एक हजार रोगी का इलाज किया गया। इसके अलावा एएनएम ने 50 महिलाओं का प्रसव भी करवाया गया। मरीजों की लगातार परेशानियों के बावजूद प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है।

आयरनयुक्त पानी पी रहे लोग पांच साल से आरओ खराब
अस्पताल में कुव्यवस्था का आलम यह है कि अस्पताल परिसर में लगा आरओ पिछले 5 साल से ख़राब है। बीते पांच साल के दौरान अस्पताल प्रबंधन का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। अस्पताल में कार्यरत एएनएम शैल कुमारी ने बताया कि आरओ खराब रहने के कारण यहां आने वाले रोगी और स्टाफ बगल के चापाकल से आयरनयुक्त पानी पीने को मजबूर है। विभाग के पास कई बार शिकायत करके थक चुकी हूं, मगर कोई ध्यान नहीं है।

दो वर्ष से जेनरेटर में तेल नहीं, बिजली जाने से होती है परेशानी
केंद्र में लगे जेनरेटर में दो वर्ष से तेल नहीं दिया गया। इस वजह से दो वर्षों से जेनरेटर बंद है। बिजली जाने के बाद वैकल्पिक व्यवस्था इनवर्टर लगा हुआ है। इससे महज तीन या चार बल्ब जलते हैं और वह भी बहुत कम देर। रात में आने वाले रोगी को खासकर परेशानी का सामना करना पड़ता है। मौसम खराब होने के वजह से अगर बिजली नहीं रहती है और रोगी रात में काफी परेशानी होती है। इस बारे में कई बार लिखित शिकायत प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी भवानीपुर से की गई है, मगर कोई ध्यान नहीं दिया गया।

एपीएचसी अकबरपुर में खराब आरओ।
एपीएचसी अकबरपुर में खराब आरओ।

डॉक्टर डेपुटेशन पर इसलिए हो रही परेशानी
अकबरपुर अतिरिक्त उपस्वास्थ्य केंद्र में दो डॉक्टर की व्यवस्था थी। इसमें एक डॉ. इतिमामूल हक को अमौर और डॉ. तनवीर हैदर को रुपौली डेपुटेशन पर भेज दिया गया है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भवानीपुर में भी अभी डॉक्टर की कमी है। जेनरेटर में तेल नहीं होने वाली बात की जानकारी मुझे नहीं है।
- डॉ. नवीन उफरोजिया, प्रभारी, पीएचसी भवानीपुर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें