पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दर्दनाक हादसा:खाना बनाने के दौरान जिंदा जली किशोरी सूचना मिलने के तीन घंटे बाद पहुंची पुलिस

बौंसी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छात्रा के जिंदा जलने की जानकारी मिलने के बाद उसके घर के बाहर लगी लोगों की भीड़।
  • बौंसी थाना क्षेत्र के दलिया पंचायत के डैम रोड की घटना, प्राथमिकी नहीं
  • नौंवी की छात्रा थी डॉली, स्थानीय समाजसेवी ने की मदद, तब हुआ अंतिम संस्कार

बौंसी थाना क्षेत्र के दलिया पंचायत अंतर्गत डैम रोड में खाना बनाने के दौरान आग लगने से एक छात्रा की मौत हो गई। मृतक छात्रा की पहचान दलिया पंचायत के डैम रोड निवासी स्वर्गीय कृष्ण मोहन साह की 17 वर्षीया पुत्री डॉली कुमारी के रूप में हुई है। डॉली एलएनडी बालिका उच्च विद्यालय में नौवीं की छात्रा थी। डॉली का परिवार बेहद गरीब है। उसकी मां दूसरे के घरों में दाई का काम करती है। डॉली की मां ने बताया कि आज सुबह नवरात्रि को लेकर दोनों बेटी के साथ पापहरनी में स्नान कर घर आए एवं उसके बाद मैं अपना काम करने निकल गई। छोटी बहन बाहर बैठी हुई थी। उसी समय खाना बनाने के दौरान डॉली के कपड़े में आग लग गई और वो बुरी तरह से झुलस गई। जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने दमकल कर्मियों को सूचित किया। जिसके बाद मौके पर पहुंचे दमकल कर्मियों ने आग पर काबू पाया। घटना की जानकारी मिलते ही रेफरल अस्पताल द्वारा एंबुलेंस को बुलवाया गया जिसके बाद छात्रा को एंबुलेंस से रेफरल अस्पताल पहुंचाया गया जहां पर ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर आर के सिंह ने छात्रा को मृत घोषित कर दिया। मृतक चार भाई-बहनों में मंजिली थी। बड़ी बहन जूली की शादी हो चुकी है। छोटी बहन खुशी एवं भाई बिट्टू कुमार सरकारी स्कूल में पढ़ाई कर रहा है। इस घटना के बाद मृतक के डैम रोड स्थित घरों के बाहर काफी भीड़ जमा हो गई‌।

बाद में परिजन से आवेदन लिखा पूरी की औपचारिकता

छात्रा के भाई बिट्टू कुमार ने थाना में आवेदन देकर बताया कि खाना बनाने के दौरान आग कपड़ा में लग जाने के कारण मौत हो गई है। छात्रा के जलने के 3 घंटे के बाद भी बौंसी प्रशासन घटनास्थल पर नहीं पहुंची। जबकि आसपास के लोगों ने बताया कि आग लगते ही बौंसी प्रशासन को फोन कर मामले की जानकारी दी गई थी। परंतु पुलिस का एक भी आदमी ना तो अस्पताल आया ना ही परिजन के घर तक पहुंचे। वही आसपास के ग्रामीणों ने बताया कि अगर अमीर की बेटी मरी होती तो पुलिस पैदल दौड़ कर पहुंच जाती परंतु एक बर्तन मांजने वाली की बेटी आग से जलकर मर गई लेकिन पुलिस 3 घंटे के बाद भी नहीं पहुंची। प्रशासन के नहीं पहुंचने पर परिजन मृतका की डेडबॉडी को थाना मोड़ पर एंबुलेंस से लेकर आए। उसके आधे घंटे के बाद जब पुलिस को फोन किया तब थाने के पदाधिकारी पहुंचे और आवेदन लिखवा औपचारिकताओं को पूरा किया।

अंतिम संस्कार के लिए भी नहीं था पैसा
मृतक के परिजन इतने गरीब थे कि अंतिम संस्कार करने के लिए भी उसके पास पैसा नहीं था। तब व्यवसायिक संघ के अध्यक्ष राजू सिंह के द्वारा अंतिम संस्कार करने की खर्च देने के बाद युवती का देर शाम अंतिम संस्कार किया गया। वहीं घटना के बाद परिवार में कोहराम मच गया है। वही उसकी मां माया देवी का रो-रो कर बुरा हाल था। वह बार-बार बेटी को ही याद कर रो-रो कर बेहोश हो रही थी।

मुझे जिस समय सूचना मिली उस समय मैं भलजोर बॉडर पर था। जानकारी मिलते ही मैंने तुरंत पेट्रोलिंग पार्टी को बताया। हालांकि उसके पहुंचने में भी देर हुई। मृतका की मां ने घटना में किसी का दोष नहीं होने की बात कही है। पीड़ित पक्ष यदि मामले की जांच के लिए आवेदन देता है तो छानबीन की जाएगी।
राज किशोर सिंह, थानाध्यक्ष, बौंसी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप अपने अंदर भरपूर विश्वास व ऊर्जा महसूस करेंगे। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। तथा अपने सभी कार्यों को समय पर पूरा करने की भी कोशिश करेंगे। किसी नजदीकी रिश्तेदार के घर जाने की भी योजना बनेगी। तथ...

और पढ़ें