पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:नरबतपुर मौजा का नहर टूटा, तीस एकड़ में लगी गेहूं व दलहन फसल पानी से बर्बाद

चौसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आक्रोशित किसानों ने सिंचाई विभाग की लापरवाही से नुकसान होने की बात कही
  • सिंचाई विभाग के एसडीओ बोले- नहर के आगे अतिक्रमण से बाहा पर बढ़ा दबाव

नहर विभाग की लापरवाही से नरबतपुर गांव स्थित बाहा के टूटने से किसानों की फसल डूबकर जलमग्न हो गयी। जिससे किसानों को काफी नुकसान हो गया। नहर टूटने की किसानों द्वारा सूचना नहर विभाग को दी गयी। जिस पर नहर विभाग द्वारा पानी को बंद करने तथा पानी के लिए आगे का रास्ता बनाने का आश्वासन दिया गया।

किसानों द्वारा धान की कटनी के बाद आर्थिक मजबूती की उम्मीद से रबी फसलों को मेहनत से बोया गया था। वही मुख्य नहर से खेत तक पानीं पहुंचाने वाला बाहा पानी के दबाव से अचानक टूटू गया। जिसमें किसानों के मेहनत पर पानी फिर गया। नरबतपुर गांव स्थित ताल के पास की लगभग तीस एकड़ में लगी दलहन, तेलहन व गेहूं की फसल डूब कर बर्बाद हो गयी।

जिससे संबंधित किसानों में आक्रोश देखा जा रहा है। किसानों का कहना है कि नहर विभाग की लापरवाही से अभी अंकुरित फसल डूब गया। वहीं सिंचाई विभाग के एसडीओ का मानना है कि नहर के आगे ग्रामीणों द्वारा अतिक्रमण करने के कारण पानी आगे नहीं निकल पा रहा है। जिससे पानी दबाव बना बाहा को तोड़ दे रहा है। हालांकि अभी तक किसानों द्वारा किसी भी अधिकारी को लिखित आवेदन नहीं दिया गया है।
किसानों ने लगायी है चने की फसल

किसान सतीश सिंह द्वारा बताया गया की इस बार हम धान की कटनी के बाद चना की खेती किये थे। दो एकड़ में चना की बोआई किये थे इस उम्मीद से की घर के लिए कुछ दाल हो जायेगा। अगर पैदावार अच्छी हो जायेगी तो बेच कुछ पैसे भी बना लिया जायेगा। लेकिन सुबह जलमग्न खेत देख सारी उम्मीद धूमिल हो गयी है। इस तरह से सभी किसानों का किसी का एक एकड़ तो किसी का दो एकड़ तो किसी का एक एकड़ से कम में लगी गेहूं, चना व सरसों की फसल डूब कर बर्बाद हो गयी।
नहर की मरम्मत व बाहा पक्कीकरण से मिलेगा निजात
नरबतपुर निवासी रामबहादुर सिंह,द्वारा बताया गया कि यह जर्जर नहर के कारण हुआ है। जब तक विभाग द्वारा नहर के पानी को आगे कर्मनाशा नदी या गंगा नदी में गिराने की व्यवस्था नही बनाया जायेगा तब तक किसानों की परेशानी दूर नही होगी। वहीं माइनर से नरबतपुर गांव की तरफ जाने वाले बाहा को पक्कीकरण करना पड़ेगा। नहीं तो जब-जब पानी का दबाव बनेगा खेतों में पानी भरता रहेगा।
किसान परेशान : पानी रोकने वाले चाबी का वॉल्व है खराब
एसडीओ प्रदीप कुमार द्वारा बताया गया कि हम निरीक्षण करने गये थे। ग्रामीणों के अतिक्रमण से पानी के लिए आगे का रास्ता अवरुद्ध हो गया है। वही इस तरफ के माइनर में आने वाले पानी को रोकने वाले चाभी के वॉल्व खराब हो गया है। जो आज कल में लग जायेगा। जिससे उस तरफ जाने वाले पानी को रोक दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि सरकार की योजना हर खेत को पानी को ले बीएओ को हर जगह आने वाली समस्या को सूचीबद्ध कर वहां की समस्या को दूर किया जायेगा।

गंगा कैनाल से किसानों को मिल रही है सहूलियत
बता दें कि चौसा गंगा कैनाल पम्प के बनने से एक तरफ किसानों की मेहनत रंग ला रही हैं। जहां समय समय से पानी मिलने से इस बार धान की फसल की अच्छी पैदावार हुई है। वहीं गेहूं पटवन के लिए भी समय से नहर चालू होने से किसान अपने हिसाब से गेहूं की सिचाई कर रहे है। वही नरबतपुर मौज स्थित ताल के पास बुधवार की रात अचानक नहर के टूटने से खेत जल मग्न हो गया।

खेत डूबने वाले किसान सतीश सिंह, दीनबन्धु सिंह, संजय सिंह साधु, सुरेंद्र सिंह, राहुल सिंह, रामजस दुबे, धर्मेंद्र यादव, मुन्ना पाण्डेय,वीरेंद्र शुक्ला,चन्द्रहास सिंह, नथुनी दुबे, मदन यादव, श्री भगवान यादव, रमेश सिंह, धोना सिंह, झोला यादव, परंभंस यादव,सिया राम सिंह,बोदा सिंह आदि किसान है।जिसमे से कुछ लोग गेहूं तो कुछ लो दलहन की फसल अच्छी पैदावार की उम्मीद से बोये हुये थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें