पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीबीआई जांच कराने का निवेदन:पैक्स में हो रही धांधली से परेशान किसानों ने सीबीआई जांच की मांग की, लिखा पत्र

चौसा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अन्नदाताओं का बे इम्तिहान दर्द, अधिकारियों ने नहीं सुनी तो, किसानों की आस अब मुख्यमंत्री के पास

किसान अधिकार मंच के किसानों ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर धान गेहूं खरीद की सीबीआई जांच कराने का निवेदन किया है। बताया गया कि जिले में अन्नदाताओं को अधिकारियों व पैक्सों की मिली भगत से लूटने का कार्य किया जा रहा है।जिसको लेकर प्रखण्ड व जिले के अधिकारियों को पत्र एवं फोन से कई बार सूचना दिया गया। लेकिन किसानों का दर्द दर्द ही रह गया। पहले पैक्सों के द्वारा आदेश के बावजूद भी धान अधिप्राप्ति लेट से प्रारम्भ किया गया।जिसके कारण छोटे मोटे किसानों को अपनी पैदावार औने पौने दाम में बिचौलियों को बेच दिया गया।

वंही अगर फसल पैक्स को देना चाहे तो उसमें नाना प्रकार के कमी निकालते है।दूसरी तरफ 100 किलोग्राम प्रति क्विंटल का मानक 105 किलोग्राम रखे हैं। तथा 1,975 के जगह गेहूं 1550 से 1600 एवं धान 1300 से 1450 के दर से लिये है। वहीं किसानों को वजन की कांटा पर्ची भी नहीं देते हैं। धर्मकांटा से न तौल कर अपने छोटे कांटा से तौल कर धांधली करके करोड़ों व अरबों रुपये कमायें हैं।

बताया गया कि सरकार द्वारा गेहूं अभिप्राप्ति का समय बीस अप्रैल को निर्धारित किया गया था। लेकिन आज तक बक्सर जिले में 51 दिन में केवल 25 प्रतिशत ही गेहूं का क्रय किया गया है। बाकी जमाखोरों के अनाज से गोदाम को भर दिया जायेगा। किसान अधिकार मंच के अध्यक्ष भगवान राय ने कहा कि लाखों रुपये लगाकर महंगे खाद बीज खरीद कर खून - पसीना बहाकर देश के लिए अच्छी पैदावार करने वाले किसान की स्थिति दिन पर दिन खराब होते जा रही है। किसानों का सारा खर्च जैसे शादी, कपड़ा, दवाई घर खर्चा एवं पुनः खेती सभी खेती पर ही आधारित है। जबकि करोना के चलते हम किसान बहुत टुट चुके है। अब हम किसानों का एक ही रास्ता बचा है आत्महत्या

खबरें और भी हैं...