पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हादसा:कर्मनाशा नदी में बहन के साथ डूब गया इकलौता चिराग, परिजनों से छिपकर दोनों गये थे नहाने

चौसा18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जलीलपुर पंचायत स्थित कर्मनाशा नदी में नहाने के दौरान भाई बहन डूबे, खोजने का प्रयास जारी

प्रखण्ड के जलीलपुर पंचायत स्थित कर्मनाशा नदी में नहाने के दौरान भाई बहन डूब गये। जिनकी खोज बिन जारी है। सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। ग्रामीणों द्वारा पुलिस व सीओ को सूचना दिया गया लेकिन घटना के छह घण्टे तक प्रशासन के न पहुंचने से ग्रामीणों में काफ़ी आक्रोश देखा गया। बताया गया कि दोनों किशोर घर से नहाने के लिए निकले थे। तभी स्नान करते समय गहरे पानी मे चले जाने से डूब गये। जिसकी सूचना घरवालों को पास में ही भैंस धो रहे चरवाहा ने दिया। जिसके बाद से सैकड़ों की संख्या में नदी किनारे पहुंचे ग्रामीणों द्वारा काफी खोज बिन किया गया लेकिन खबर लिखे जाने तक भाई बहन को कोई पता नहीं चल सका।
भाई को बचाने में डूब गयीं बहन
राजपुर थाना क्षेत्र के जलीलपुर पंचायत निवासी गोरख लाल राम का पुत्र ज्ञान प्रकाश (10 वर्ष )पुत्री अर्चना कुमारी (13 वर्ष ) दोनों भाई बहन बिना परिजनों को सूचना दिये ही पास के कर्मनाशा नदी में नहाने चले गये। काफी देर के बाद जब घर नहीं लौटे तो परिजन दोनों को आस पड़ोस में ढूंढ़ने लगे। तभी नदी किनारे भैंस धो रहे चरवाहा में घर पर आकर सूचना दी कि नदी में नहाने के दौरान गहरे पानी के जाने के कारण दोनों डूब गये। सूचना पर पहुंचे ग्रामीणों द्वारा दोनों को काफी खोजने का प्रयास किया गया लेकिन अभी तक दोनों की तलाश जारी है। बताया गया कि भाई को बचाने में बहन डूब गयीं।

घर का बुझ गया इकलौता चिराग
ज्ञान प्रकाश अपने माता पिता का इकलौता बेटा था। उसके पिता अखौरीपुर गोल स्थित मध्य बिहार ग्रामीण बैंक में काम करते है। जिससे परिवार का भरण पोषण होता था। पिता हमेशा की तरह सुबह ही बैंक ड्यूटी के लिए निकल गए थे।जिसकी सूचना पर वे ड्यूटी छोड़ कर भागे भागे नदी किनारे पहुंचे थे। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि तीन बहनों के बाद एक भाई होने पर पूरा मोहल्ला खुशियां मनाया था। लेकिन किसी को क्या पता था कि यह खुशी एक दिन पूरे मोहल्ले को रुलाएगी भी।बहन के साथ घर का इकलौता चिराग के डूबने से पूरे ग्रामीणों में मायूसी है। ग्रामीणों ने बताया कि ज्ञान प्रकाश घर के साथ पूरे मोहल्ले का दुलार था।

ज्ञान प्रकाश व अर्चना की डूबने की सूचना से माता प्रमिला देवी व पिता गोरख लाल राम का रो रो कर बुरा हाल है। आसपास के लोग संतावना दे रहे है। मां रोते रोते बेसुध हो जा रही थी। बड़ी बहन ममता व छोटी बहन आरती भी भाई के लिए रो रो कर अपनी हालत खराब कर ली थी। वहीं मां प्रमिला देवी का रोना देख आस पास के लोगों का कलेजा फट रहा था। गांव के लोगों का कहना था कि ज्ञान होनहार लड़का था।

प्रशासन के नही पहुंचने से ग्रामीणों में आक्रोश
बता दे कि ग्रामीणों द्वारा इसकी सूचना सीओ व राजपुर थाना को दी गयी थी।लेकिन ग्रामीणों का कहना था कि सूचना के छह घण्टे बाद भी पुलिस नही पहुंची पायी थी जिससे ग्रामीणों में काफ़ी आक्रोश देखा गया।हालांकि जब इस घटना की सूचना एसडीओ को दी गयी तो शाम पांच बजे सीओ द्वारा एक गोताखोर के साथ अंचल कर्मी को भेजा गया।जिसके द्वारा थोड़ा प्रयास किया गया तब तक रात हो गयी।लेकिन भाई बहन को नदी से नही निकाला पाये।खबर लिखे जाने तक ग्रामीणों व आसपास के मल्लाहों द्वारा जाल से खोजने का प्रयास जारी है।

खबरें और भी हैं...