खाद की किल्लत:किसानाें ने बीडीओ को ज्ञापन सौंप की खाद की कमी दूर करने की मांग

छातापुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीडीओ को ज्ञापन सौंपता शिष्ट मंडल। - Dainik Bhaskar
बीडीओ को ज्ञापन सौंपता शिष्ट मंडल।
  • कालाबाजारी के कारण प्रखंड क्षेत्र के किसान काफी परेशान
  • बाजार में अधिकांश खाद-बीज की दुकानें बंद रहती हैं

प्रखंड क्षेत्र सहित मुख्यालय बाजार में खाद की कमी को दूर करने और कालाबाजारी रोकने को लेकर किसानों ने शुक्रवार को बीडीओ रितेश कुमार सिंह को ज्ञापन सौंपा। साथ ही कई विषयों पर किसानों के समस्या पर चर्चा की। शिष्टमंडल द्वारा सौंपे ज्ञापन में कहा गया है कि लगभग एक माह से उर्वरक की भारी कमी व खाद विक्रेता द्वारा कालाबाजारी के कारण प्रखंड क्षेत्र के किसान काफी परेशान हैं। किसान प्रतिदिन खाद के लिए विक्रेता के दुकान पर रात्रि में ही लाइन में लगते हैं। लेकिन किसान को खाद नहीं मिलने के कारण शाम में बैरंग वापस घर लौटना पड़ता है। जिस किसान को खाद मिलती है, उन्हें भी अधिक मूल्य पर चोरी-छिपे दी जाती है। जो छोटे और मझोले तबके के किसान हैं, उन्हें खाद उपलब्ध नहीं कराई जा रही है। वर्तमान समय में बाजार में अधिकांश खाद-बीज की दुकानें बंद रहती है। खुली रहने पर भी उचित मूल्य पर खाद नहीं मिल पाती है। जिससे किसान त्राहिमाम कर रहे हैं। मौके पर शालीग्राम पांडेय, शिशुपाल सिंह बछावत, अकील अहमद, नागेश्वर भुसकुलिया, सुशील कुमार मंडल, ललन कुमार यादव, मज़रूल हक खान, संजीव कुमार भगत, प्रमोद कुसियेत, शेषनाथ सिंह, प्रमोद कुमार यादव, बिंदेश्वरी भगत, अशोक मेहता, योगानन्द यादव सुबोध सरदार सहित अन्य लोग उपस्थित थे। आधार कार्ड के साथ जमीन का मूल मालगुजारी रसीद लेकर दें खाद : बीडीओ को दिए ज्ञापन बताया कि आधार कॉर्ड को मुख्य आधार मानकर खाद की आपूर्ति नहीं की जाए। आधार कार्ड के साथ जमीन का मूल मालगुजारी रसीद होना आवश्यक है। तभी सही किसान को समय पर खाद की आपूर्ति हो सकेगी। इतना ही नहीं, विक्रेता को यह भी निर्देश दिया जाए कि किसानों द्वारा दी जा रही रसीद के पीछे खाद आपूर्ति का विवरण लिखा जाए। ताकि उस रसीद का उपयोग दोबारा नहीं कर सके। खाद के साथ बोरन, जिंक व कैल्शियम किसानों को जबरन विक्रेता द्वारा देकर अधिक मूल्य लिया जा रहा है। जो किसान का दोहन है। प्रखंड क्षेत्र में खाद पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराने की मांग रखी है। ज्ञापन सौंपने पहुंचे शिष्टमंडल को बीडीओ ने आश्वस्त कराया है कि सौंपे गए ज्ञापन के आलोक में जिलाधिकारी सहित जिला कृषि पदाधिकारी को पत्र के माध्यम से खाद की समस्या से अवगत कराकर एक-दो दिनों के अंदर खाद बाजार में उपलब्ध कराई जाएगी। इसके बाद प्रशासन के माध्यम से खाद वितरण करना सुनिश्चित कराया जाएगा। जिससे कालाबाजारी पर नियंत्रण पाया जा सकेगा।

खबरें और भी हैं...