पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अपील:कविताओं से बताया प्रकृति का महत्व, संरक्षित करने की अपील

छातापुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विश्व पर्यावरण दिवस पर वर्चुअली कवि सम्मेलन का हुआ आयोजन

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय लोक साहित्य मंच पुरोला उत्तराखंड के सौजन्य से वर्चुअल रूप से कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया । मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष मदन मोहन जोशी, संरक्षक नीरज उत्तराखंडी, मार्गदर्शक और प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता सुनिल दत्त मिश्रा, विशेष सहयोगी शैलेंद्र पयासी, युवा वाहिनी अध्यक्ष धीरेंद्र सिंह चौहान, सचिव जसपाल सिंह नेगी, संगठन मंत्री ललित डोभाल, मंच संचालिका कल्पना भदौरिया स्वप्निल, मीडिया प्रभारी कुमार शुभम, सलाहकार जगदीश विजयवर्गीय, विशेष सहयोग तनवीर राणा, संस्थापक आशुकवि नरेश मेहता ने कहा कि ऐसे आयोजन से समाज में पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता आती है। छातापुर में कार्यरत शिक्षक सह कवि नरेश निराला ने पर्यावरण संरक्षण पर एक रचना सुनाई। निराला ने कहा कि पर्यावरण दिवस मनाने का उद्देश्य पर्यावरण के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने और पर्यावरण को सुरक्षित रखना है। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा पहली बार विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून को 1972 में मनाया गया था। 1972 के बाद से हर साल पांच जून को वर्ल्ड एनवायरनमेंट डे मनाया जाता है। मौके पर काव्य पाठ में भाग लेने वाले कवियों में गीता पांडे रायबरेली, चंद्रप्रकाश गुप्त चंद्र अहमदाबाद, डाॅ. राजेश जैन, श्री नगर गढ़वाल, सरस्वती वंदना प्रियंका मित्तल, शुभम शुभ पुरोला उत्तरकाशी, नम्रता श्रीवास्तव बांदा, ममता प्रीति श्रीवास्तव गोरखपुर, सत्यनारायण उपाध्याय उज्जैन, अरविन्द कुमार अवि, सुधीर श्रीवास्तव गोण्डा, रेखा कापसे होशंगाबादी, ओमप्रकाश श्रीवास्तव कानपुर, प्रीति कुमाईं पंवार उत्तराखंड, मीनाक्षी रेवड़ी आदि थीं।

खबरें और भी हैं...