अन्न उत्सव:सर्वर डाउन होने से बिगड़ी व्यवस्था, एक भी दुकान से नहीं बांटा 100 लाेगाें काे राशन

छतरपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राशन न मिलने के दौरान गुब्बारे निकालकर ले जाते बच्चे व महिलाएं। - Dainik Bhaskar
राशन न मिलने के दौरान गुब्बारे निकालकर ले जाते बच्चे व महिलाएं।
  • सर्वर डाउन होने से 10 मिनट की प्रक्रिया में 30 से 50 मिनट लगे
  • प्रभारी मंत्री ने की शुरुआत, जिले की 656 राशन दुकानों से खाद्यान्न बांटा

जिला मुख्यालय स्थित ऑडिटोरियम से पीएम गरीब कल्याण अन्न उत्सव की शुरुआत जिले के प्रभारी मंत्री ओपी सखलेचा ने हितग्राहियों को निशुल्क खाद्यान्न वितरण कर की। पर शनिवार को सर्वर डाउन की समस्या के चलते देर शाम तक जिले के आधे हितग्राहियों को ही खाद्यान्न वितरित हो सका।

इस योजना के तहत 656 राशन दुकानों के माध्यम से 10-10 किलो प्रति व्यक्ति के हिसाब से जिले के 2 लाख साढे़ 56 हजार लोगों को राशन वितरित किया जाना था। पर सर्वर डाउन हाेने के कारण एक दुकान से भी 100 लाेगाें काे राशन का वितरण नहीं हुआ, अधिकतम 60 लाेगाें काे ही राशन दे सके दुकानदार। जिला मुख्यालय पर 32 राशन दुकानों के माध्यम से शनिवार की सुबह 11 बजे से 10-10 किलो खाद्यान्न का वितरण शुरू किया गया। वितरण के पहले राशन दुकानदार को संबंधित हितग्राही का रजिस्ट्रेशन और मशीन में अंगूठा लगवाने के बाद एम राशन मित्र पर थैले के साथ उसकी फोटो अपलोड करनी थी।

राशन नहीं मिला तो महिलाओं और बच्चों ने गुब्बारे ही निकाल लिए

कई हितग्राही बिना राशन के लौट

सुबह से देर शाम तक सर्वर डाउन होने के कारण 10 मिनट की इस प्रक्रिया में उसे 30 से 50 मिनट लगे। इस कारण प्रति दुकानदार को दिए गए 100 हितग्राहियों के लक्ष्य को पूरा करने में बहुत अधिक समय लगा। इसलिए आधे से अधिक हितग्राही बिना राशन के लौट गए और कुछ का नंबर ही नहीं आया। इस प्रकार जिले भर के राशन दुकानदार 100 के स्थान पर 40 से 60 हितग्राहियों को ही खाद्यान्न वितरित कर पाए।

आज खाद्यान्न वितरित कर लक्ष्य को पूरा करेंगे

छतरपुर शहर के वार्ड नंबर 38 की राशन दुकान द्वारा 36 हितग्राहियों को, वार्ड नंबर 8 के संचालक द्वारा 45 हितग्राहियों को, वार्ड नंबर 27 के संचालक द्वारा 30, वार्ड नंबर 3 के संचालक द्वारा 36, वार्ड नंबर 2 के राशन दुकानदार द्वारा 49 और वार्ड नंबर 23 के संचालक द्वारा 43 हितग्राहियों को खाद्यान्न का वितरण किया गया। कम राशन थैलों के वितरण होने की बजह दुकान संचालकों ने सर्वर डाउन होना बताया। राशन दुकानदारों ने बताया कि शासन द्वारा दिए गए लक्ष्य को रविवार को खाद्यान्न वितरित कर पूरा करेंगे।

लोगों को पीले चावल देकर दिया था निमंत्रण

पीएम गरीब कल्याण अन्न उत्सव के एक दिन पहले अधिकारियों ने जिले भर के लोगों को पीले चावल देकर खाद्यान्न वितरण में आकर थैले में राशन लेने का निमंत्रण दिया। निमंत्रण मिलने पर शहर के ऑडिटोरियम हॉल में आसपास के कई हितग्राही खाद्यान्न सामग्री लेने पहुंच गए। पर इस कार्यक्रम के दौरान सिर्फ 50 हितग्राहियों को ही थैले के साथ खाद्यान्न का वितरण होना था। जब राशन नहीं मिला तो परिसर को सजाने के लिए लगाए गए गुब्बारे ही महिलाएं और बच्चे निकाल कर ले गए।

कोई भी गरीब भूखा नहीं रहे: प्रभारी मंत्री

प्रभारी मंत्री ओपी सखलेचा ने ऑडिटोरियम में दीप प्रज्जवलित कर पीएम गरीब कल्याण अन्न उत्सव कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पंडित दीनदयाल के बताए मार्गदर्शी सिद्धांतों को सार्थक करने के उद्देश्य से मप्र सरकार, समाज के अंतिम छोर के अंतिम व्यक्ति को मूलभूत सुविधा पहुंचाने के लिए कोविड आपदा काल में भी जुटी है। उन्होंने कहा कि कोई भी गरीब भूखा नहीं रहे, सरकार इस बात के लिए सदैव सजग, सतर्क और संवेदनशील है।

मुख्य कार्यक्रम में 25 लाेगाें काे पैकेट बांटे

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लाइव प्रसारित कार्यक्रम को ऑडिटोरियम (टाउन हॉल) छतरपुर में मौजूद प्रभारी मंत्री, विधायक, जन प्रतिनिधियों, कलेक्टर सहित हितग्राहियों ने देखा। प्रभारी मंत्री ने पूर्व मंत्री ललिता यादव, विधायक राजेश प्रजापति सहित जनप्रतिनिधियों के साथ वार्ड नंबर 28 शिवाजी उपभोक्ता भंडार के 25 हितग्राहियों को 10-10 किलोग्राम के खाद्यान्न के पैकेट प्रदाय किए। खाद्यान्न वितरण के पूर्व हितग्राहियों का तिलक लगाकर सम्मानित किया गया।

खबरें और भी हैं...