छापेमारी:मदरसे से चार कट्‌टा व आठ कारतूस बरामद संचालक ने कहा- मुझे फंसाने की है साजिश

धोरैयाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मदरसे से बरामद कारतूस और कट्‌टा। (इनसेट में संचालक) - Dainik Bhaskar
मदरसे से बरामद कारतूस और कट्‌टा। (इनसेट में संचालक)
  • घोंघा-पंजवारा एसएच 84 मुख्य मार्ग पर करहरिया गांव का मामला, हथियार की सूचना पर छापेमारी
  • मदरसे के एक कमरे में बोरी के नीचे था हथियार, जांच के बाद प्राथमिकी दर्ज की जाएगी

घोंघा-पंजवारा एसएच 84 मुख्य मार्ग पर करहरिया गांव के पास निजी मदरसा से शनिवार को पुलिस ने 4 कट्टा व 8 कारतूस बरामद किया है। मदरसा संचालक की गिरफ्तारी नहीं हुई। पुलिस को सूचना मिली थी मदरसा में हथियार रखा है। जिसके बाद जामिया अरबिया तालीमुल कुरान नामक मदरसा में छापेमारी हुई। कमरे में पुआल से भरी बोरी के नीचे अवैध हथियार रखा था। बोरे के नीचे से देसी पिस्तौल वआठ कारतूस भी बरामद हुआ। पुलिस यह पता लगा रही है कि आखिर गुप्तचर को यह पूरी जानकारी कैसे हुई कि बोरी के नीचे अवैध हथियार रखा हुआ है ? इसी बिंदु पर मदरसा के संचालक करहरिया गांव निवासी मौलाना मो. फजीरुद्दीन की गिरफ्तारी तत्काल नहीं की गई है। थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले को लेकर अनुसंधान किया जा रहा है। अनुसंधान के उपरांत विधि कार्रवाई की जाएगी। मदरसा में अवैध हथियार मिलने से पूरे प्रखंड सहित पड़ोसी राज्य झारखंड में सनसनी फैल गई है। लोग हैरान थे कि जिस मदरसे में बच्चे पढ़ते थे और वहीं से अवैध हथियार मिले, यह कैसे संभव हो सकता है ? वहीं लोगों का मानना है कि अगर किसी ने फंसाने के उद्देश्य से हथियार रखा तो एक देसी कट्टा भी फंसाने के लिए काफी था। पुलिस हरेक बिंदुओं पर जांच कर रही है। एसपी अरविंद कुमार गुप्ता ने बताया कि मामला संदिग्ध प्रतीत हो रहा है। पूरी जांच के बाद ही आरोपी के विरुद्ध केस दर्ज की जाएगी।

‘बालू माफिया फंसा रहे हैं’
मदरसे के संचालक मो. फजीरुद्दीन ने कहा उन्हें फंसाया जा रहा है। बालू माफियाओं द्वारा पूर्व में भी उन्हें फंसाने की साजिश रची गई थी। जिस कारण से बालू माफिया उन्हें तंग तबाह करने की मंशा से यह कार्य किए हैं। साजिश चार-पांच वर्ष पूर्व से चल रही है। पूर्व में भी हरिजन एक्ट लगाकर उन्हें फंसाने की कोशिश की गई थी। मस्जिद में लोग नमाज पढ़ने आते हैं। पूरा मस्जिद खुला है। गत वर्ष पूर्व थाना प्रभारी से मिलकर बालू ट्रैक्टर पकड़वाया था। इसी को लेकर फंसाया जा रहा है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

8 जून को नवटोलिया मदरसे में फटा था बम

नवटोलिया के मदरसा में भी 8 जून को बम विस्फोट हुआ था। चर्चा थी कि इस मदरसा में भी अवैध हथियार रखा गया था। मदरसा में बम विस्फोट और भवन गिरने के बाद उसे दूसरे जगह शिफ्ट कर दिया गया था। ऐसी घटनाओं से लोग मदरसा को संदेह की दृष्टि से देखने लगे हैं।

बिना रजिस्ट्रेशन के ही संचालित हो रहा है मदरसा
धोरैया सनहौला मुख्य मार्ग पर जामिया अरबिया तालीमुल कुरान मदरसा बिना रजिस्ट्रेशन के यहां संचालित हो रहा है। लोगों का मानना है कि प्रखंड में करीब आधा दर्जन मदरसा बिना रजिस्ट्रेशन के है। मदरसा के कैंपस में ही मस्जिद है। मदरसा समीप से होकर गुजरने वाली गेरुआ नदी से बिल्कुल सटा हुआ है। मदरसे के बच्चों ने बताया कि यहां उर्दू अरबी ग्रामर की पढ़ाई की जाती है। कोरोना के कारण यहां बच्चों की संख्या कम हो गयी है। बता दें कि इससे पहले भी जिले के एक मदरसे में बम धमाका हुआ था।

मामले की हो रही है जांच
जांच कराई जा रही है। सूचक और आरोपी की भी जांच हो रही है। जिस जगह हथियार बरामद हुआ है। मामला संदिग्ध है। सभी बिंदुओं पर जांच कर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा
- अरविन्द कुमार गुप्ता, एसपी, बांका

खबरें और भी हैं...