बाढ़ का खतरा:बिहारटोला कामत में कनकई नदी में कटाव रोधी काम नहीं होने से सहमे लोग

दिघलबैंकएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बिहारटोला कामत प्राथमिक विद्यालय के समीप बह रही कनकई नदी। - Dainik Bhaskar
बिहारटोला कामत प्राथमिक विद्यालय के समीप बह रही कनकई नदी।
  • कटाव नहीं रोका गया ताे दर्जनों परिवारों को करना होगा पलायन

प्रत्येक वर्ष बाढ़ पानी का मार झेल रहें धनतोला पंचायत अंतर्गत बिहारटोला, कामत टोला गांव में कनकई नदी-2 में कटान रोधक कार्य नहीं होने से गांव में कटान का खतरा मंडरा रहा है जिससे लोग सहमे हुए हैं।     स्थानीय ग्रामीण सूरज सहनी, लालजी टुडू, धोकरो मुर्मू, बिन्देश्वर महतो, मनीष महतो, गोपी महतो, मुकेश महतो सहित दर्जनों लोग बताते है कि तीन साल पहले गांव के समीप नदी किनारे कटान रोधक मरम्मत का काम कराया गया था। तभी बोरे में भरकर मिट्ठी डालने का काम कराया गया था जो बाढ़ पानी के बाद ही सभी मिट्ठी बैठ गया। जिस वजह से नदी उफान होते ही नदी का पानी सड़क से ऊपर फेंकने लगता है। ग्रामीणों ने कहा कि पिछले वर्ष अत्यधिक पानी का दबाब बढ़ने से कामत टोला मोर के पास आठ से दस फिट कट गया था जिसका अब तक मरम्मत नहीं कराया गया। ग्रामीणों को अंदेशा सताए जा रहा है कि कही लगातार बारिश का पानी से नदी का जलस्तर बढ़ा तो कामत टोला मोर सहित प्राथमिक विद्यालय कामत सहित बगल के आदिवासी टोला गांव में पानी भर जाएगा। प्रशासन को चाहिए कि समय रहें कटावरोधी काम करायें नहीं तो फिर दर्जनों परिवारों को पलायन के सिवाय और कोई रास्ता नहीं बचेगा।   गौरतलब हो कि प्रत्येक वर्ष नदी का जलस्तर बढ़ने से कामत, बिहारटोला, आदिवासी टोला में पानी घुसने एवं नदी कटान के कारण दर्जनों परिवार सहित सीमा की सुरक्षा में तैनात एसएसबी बिहारटोला बीओपी के जवानों को भी बगल के उत्क्रमित मध्य विद्यालय हाथीडुब्बा में शरण लेना पड़ा था।

खबरें और भी हैं...