पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जद्दोजहद:बलवाडांगी बांध की खुद मरम्मत कर रहे हैं ग्रामीण

दिघलबैंक15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दिघलबैंक के बलवाडांगी बांध का एक हाथ से दूसरे हाथ मिट्ठी ढुलाई कर मरम्मत करते ग्रामीण।
  • ग्रामीणाें ने महीने पूर्व श्रमदान कर बांध का कराया था निर्माण, प्रशासन ने नहीं ली सुधि

पिछले कुछ दिनों से कनकई नदी के जलस्तर में लगातार बढ़ने और घटने का सिलसिला जारी है। जिस वजह से नदी अपना रूद्र रूप दिखा रही है। सिंघीमारी पंचायत के कनकई नदी पार पश्चिमी तट पर बलवाडांगी बांध की ओर से नदी का तेज बहाव होने पर स्थानीय लोग दो तीन दिनों से अपने स्तर से बांध को बचाने का जद्दोजहद में लगें है। बांध की तरफ से नदी का तेज बहाव की आंशका को लेकर पिछले दो महीने पूर्व श्रमदान कर बांध का निर्माण पूरा किये बलवाडांगी निवासी मदन मोहन सिंह, भद्र लाल सिंह, महेश कुमार, पांडव लाल सिंह, गंगा लाल सिंह सहित दर्जनों लोगों ने प्रशासन पर अपना रोष व्यक्त करते हुए कहा कि प्रशासन को नदी पार गांव की समस्याओं को अवगत कराने के बाद भी इस ओर ध्यान कभी नहीं दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि पलसा से बलवाडांगी बांध पिछले वर्ष ही कटा था तभी गांव में काफी तबाही मचाई थी। बांध के साथ पलसा बलवाडांगी सड़क को भी ध्वस्त कर दिया। बारिश का मौसम खत्म हुआ ना तो बांध का मरम्मत कराया गया और सड़क का । इस समस्या काे लेकर जनप्रतिनिधियों और प्रशासन का दरवाजा खटखटाया पर किसी ने एक ना सुनी। आखिरकार दो महीने पहले संभावित खतरों को देखते हुए ग्रामीणों ने चंदा इकट्ठा कर बांध का निर्माण कराया पर नदी का एक बार फिर से बांध की तरफ तेज बहाव होने लगा है। जिसे देखते हुए बुबालदह गांव वार्ड नंबर-4 के प्रत्येक घरों से एक-एक लोग श्रमदान देते हुए गुरुवार से बांध की तरफ कटाव को रोकने के लिए बोरे में मिट्टी भर, बांस-बल्ला की मदद से बहाव को कम करने के प्रयास में लगें है। बीडीओ पूरण साह ने पूछे जाने पर कहा कि बलवाडांगी बांध कटाव की जानकारी मिली है, तत्काल कनकई नदी उफान पर है, पानी कम होते ही स्वयं क्षेत्र का दौरा करेंगें एवं संबंधित विभाग से कटावरोधी कार्य कराने का आवश्यक दिशा-निर्देश देंगें।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें