पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आस्था:नवरात्र में आराधना से मनुष्य को मानसिक शक्ति मिलती है: बाबा

फारबिसगंज12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कलश की स्थापना मांगलिक, सभी देवताओं चर्तुवेद, जल तत्व तथा पृथ्वी का वास

त्याग, तपस्या व समर्पण का प्रतीक मां भगवती के स्तुति का पर्व नवरात्र शनिवार से शुरू हो गया है। भक्त नौ दिनों तक यम-नियम से मां के हर स्वरूप का व्रत व पूजन कर सकेंगे। इस बार नवरात्र पर मइया हाथी पर सवार होकर आएंगी, जबकि नवरात्र समाप्त होने के बाद मुर्गा पर सवार होकर जाएंगी।भूलन बाबा की की मानें तो माता दुर्गा का आगमन घोड़ा पर हो रहा है। जहां देश मे राजनीतिक उथल पुथल की प्रबल संभावना है।
वही भैंसा पर मां दुर्गा का प्रस्थान होना होगा, जो कष्ट का द्योतक
गोदना ठाकुरबाड़ी के पुजारी भूलन बाबा बताते हैं कि नवरात्र का ऋतुओं की दृष्टि से विशेष महत्व है। ऋतु के क्रम में आराधना, उपासना, उपवास करने से मनुष्य को शारीरिक व मानसिक शक्ति मिलती है। नौ की संख्या पूर्ण ब्रह्मा का प्रतीक है इसलिए इसमें मां शक्ति के नौ रूपों का पूजन करते हैं। भगवती की पूजा में पूरब की ओर मुख करते प्राणायाम संकल्प के साथ मां शक्ति की उपासना करनी चाहिए। बिना संकल्प लिए उपासना करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति नहीं होती। बताते हैं कि मां शक्ति की उपासना में दुर्गा सप्तशती का पाठ करना अनिवार्य होता है। दुर्गा सप्तशती में 13 अध्याय हैं। अगर कोई इसे पूरा नहीं कर सकता तो पंचम और 11 वां अध्याय का पाठ करके मां भगवती की स्तुति करें।

ब्रह्मांड का प्रतीक है कलश
बताते हैं कि मां भगवती की उपासना में कलश स्थापना का अधिक महत्व है। बिना इसके मां शक्ति की आराधना अधूरी मानी जाती है। इसलिए व्रती साधकों को अपने पूजन स्थल पर कलश की स्थापना करनी चाहिए। जो साधक किसी कारण व्रत नहीं रख पा रहे हैं परंतु मां का पूजन करते हैं उन्हें भी कलश की स्थापना करनी चाहिए, क्योंकि कलश की स्थापना मांगलिक, व सृष्टि का प्रतीक है। इसमें ब्रम्हा, विष्णु, महेश, सभी देवताओं चर्तुवेद, जल तत्व तथा पृथ्वी का वास होता है। जबकि कलश पर रखे जाने वाला आम्र पल्लव प्रकृति का प्रतीक है। जबकि शुद्ध मिट्टी पृथ्वी तत्व व अग्नि सोमात्मक तत्व है। सोम औषधियों का स्वामी है और उसी से जीवन है। यह औषधियां आयु वर्धक है इसलिए अग्नि सोमात्मक की उपासना की जाती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें